Category Archives: वास्तु टिप्स

घर में चाहते हैं सम्रद्धि तो ध्यान रखे झाड़ू से जुडी वास्तु टिप्स Vastu Anusar Jhadu Ki Sahi Disha Kon Si Hai

वास्तु अनुसार झाड़ू की सही दिशा-शकुन और अपशकुन Jhadu Se Jude Skun or Apskun Hindi Me


jhadu-ki-sahi-disha-upcharnuskheहमारे शास्त्रो में झाड़ू को लक्ष्मी माता का प्रतीक माना जाता है. वास्तु के अनुसार झाड़ू से जुड़े बहुत सारे शकुन और अपशकुन होते हैं. जो हमारे जीवन में बहुत गहरा प्रभाव डालते हैं. झाड़ू तो सभी लोगो के घरो में पाया जाता है. यदि हम झाड़ू से जुडी कुछ बाते ध्यान रखें तो हम अपने घर को अनेक परेशानियों से बचा सकते हैं. तो आइये जानते हैं झाड़ू से जुड़े शकुन और अपशकुन क्या-क्या होते हैं.

झाड़ू पश्चिम दिशा के किसी कमरे रखना चाहिए

घर में झाड़ू पश्चिम दिशा के किसी कमरे में रखना चाहिए. यह बहुत ही शुभ माना जाता है. इससे घर की तमाम परेशानिया कम हो जाती हैं तथा झाड़ू की वजह से घर में किसी भी तरह की नेगेटिव एनर्जी घर में नहीं रहती.

Advertisements

 

यदि झाड़ू का काम ना हो तो उसे अलग रख दें

यदि आपके घर या ऑफिस में झाड़ू का काम हो जाये तो उसे सभकी नजरो से दूर रखना चाहिए. पुरे दिन घर या ऑफिस में झाड़ू का दिखाई देना शुभ नहीं माना जाता. यदि झाड़ू को बिना काम के खुला रखा जाए तो यह घर की सकारात्मक ऊर्जा को बाहर कर देता है.

टूटी झाड़ू का प्रयोग ना करें

कई बार लोग झाड़ू टूट जाने के बाद भी उस झाड़ू का उपयोग करते हैं. वास्तु के अनुसार टूटी हुयी झाड़ू का उपयोग नही करना चाहिए. यदि झाड़ू टूट जाये तो उसे तुरंत बदल दें. टूटी हुई झाडू से घर की सफाई करना कई तरह की परेशानियों को आमंत्रण देता है.

झाड़ू को खड़ा करके ना रखें

कई लोग झाड़ू का प्रयोग करने के बाद उसे खड़ा कर देते हैं. यह बहुत सारे अपशकुन की ओर इशारा करता है. इसलिए झाड़ू को हमेशा लेटा कर रखें. इससे आप अनेक परेशानियों से बच सकते हैं.

Advertisements

 

शाम के समय झाड़ू ना लगाए

अधिकतर लोग अपने घर में शाम के समय झाड़ू लगाते हैं. जो की वास्तु शास्त्र में शुभ नहीं माना जाता. माना जाता है की इससे माँ लक्ष्मी रूठ जाती हैं. इसलिए शाम के समय झाड़ू ना लगाए.

झाड़ू में पैर ना लगाए

हिन्दू शास्त्र में झाड़ू को माँ लक्ष्मी के समान माना जाता है. इसलिए ध्यान रखें की कभी भी झाड़ू में पैर ना लगाए. इससे आपके घर में होने वाली कई आर्थिक परेशानियों से बच सकते हैं.

झाड़ू बदलने के लिए शनिवार का दिन चुने

यदि आपके घर में रखा झाड़ू पूरा हो गया ओर आप उसे बदलना चाहते हैं तो आप शनिवार के दिन ही नया झाड़ू लें. शनिवार के दिन नई झाड़ू का उपयोग करना शुभ माना जाता है.

Advertisements

 

वास्तु अनुसार घर में इन 6 चीजों को रखें धन की नहीं होगी कमी

घर की सम्रद्धि के लिए इन 6 चीजों को रखें अपने घर में

%e0%a4%98%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%b8%e0%a4%ae%e0%a5%8d%e0%a4%b0%e0%a4%a6%e0%a5%8d%e0%a4%a7%e0%a4%bf-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%bf%e0%a4%8f-%e0%a4%87%e0%a4%a8-6-%e0%a4%9a%e0%a5%80आजकल कई लोग धन-सम्बन्धी समस्याओं से काफी परेशान रहते हैं. कभी-कभी यह समस्या वास्तु के कारण भी हो सकती है. इसलिए हमें वास्तु के नियमो का ध्यान रखना भी जरुरी होता है. धन-सम्बन्धी समस्याओं को समाप्त करने के लिए वास्तु शास्त्र में कुछ चीजें बताई गयी हैं जिनके कारण हम इस परेशानी से आसानी से बच सकते हैं. आइये जानते हैं कुछ वास्तु टिप्स आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए.

Advertisements

 

लक्ष्मी-कुबेर की तस्वीर

वास्तु के अनुसार घर के मेन गेट में माँ लक्ष्मी, भगवान कुबेर और स्वास्तिक का चिन्ह लगाने से घर में धन की कभी कमी नहीं रहती.

पानी से भरी सुराही

वास्तु के अनुसार घर की उत्तर दिशा में सुराही रखनी चाहिए. इससे घर में धन की कमी नहीं रहती. यदि सुराही ना हो तो आप मिट्टी का छोटा घड़ा भी रख सकते हैं. यदि इसमें पानी खत्म हो जाये तो इसे दुबारा भर दें.

हनुमान जी की मूर्ति

वास्तु के अनुसार घर में हनुमान जी की मूर्ति रखना बहुत ही शुभ माना जाता है. इसलिए इसलिए घर की दक्षिण पछिम दिशा में हनुमान जी की मूर्ति रखनी चाहिए.

Advertisements

 

घर में रखें पिरामिड

वास्तु के अनुसार घर में पिरामिड रखना शुभ माना जाता है. पिरामिड को घर के उस स्थान में रखना चाहिए जहां पर परिवार के सदस्य सबसे ज्यादा समय व्यतीत करते हैं. इससे घर के सदस्यो की आय में व्रद्धि होती है.

धातु का बना कछुआ और मछली

वास्तु के अनुसार घर में धातु का बना हुआ कछुआ और मछली घर में रखना शुभ माना जाता है. इससे घर में होने वाली अनेक समस्याएं समाप्त हो जाती हैं.

वास्तु देवता की मूर्ति

घर में वास्तु देवता की मूर्ति रखने से घर में हो रहे सभी वास्तु दोष समाप्त हो जाते हैं तथा घर धन-धान्य से भरा रहता है.

Advertisements

 

वास्‍तु अनुसार जानें कैसा होना चाहिए ऑफिस Vastu Tips for Success Business‎

कैसा बनाये अपने कार्यालय (ऑफिस) वास्तु शास्त्र के अनुसार Top Vastu Tips For Your Office

vastu-anusar-kaisa-ho-office-upcharnuskheवास्तु का हमारे जीवन में बहुत महत्व है. हमें भवन निर्माण, ऑफिस या कोई कारखाना खोलना हो तो हमें वास्तु के अनुसार ही बनाना चाहिए. इससे घर में सुख-शांति बनी रहती है. यदि आपको अपने ऑफिस का निर्माण करना हो तो आप वास्तु टिप्स के अनुसार अपने ऑफिस को बनाये इससे आपका व्‍यवसाय अच्छा चल सकता है. तो आइये जानते हैं कैसे करें वास्तु के अनुसार अपने ऑफिस का निर्माण.

Advertisements

 

कार्यालय का प्रवेश द्वार बिल्‍कुल सीधा होना चाहिए – जब ऑफिस बनाये तो इस बात का ध्यान रखें की ऑफिस के अंदर आने वाले दरवाजा बिल्‍कुल सीधा होना चाहिये. ऑफिस का एंट्रेंस बिल्‍कुल साफ और सीधा रखें. इस दरवाजे में ऐसी चीज़ ना रखी हो जो आपको सीधे ऑफिस में घुसने से रोक रही हो.

ऑफिस का सेंटर हमेशा खाली रखें – वास्तु के अनुसार ऑफिस स्‍पेस या काम करने की जगह का सेंटर खाली रखना चाहिए. यदि आप अपने ऑफिस में क्‍यूबिकल में बैठते हैं तो, इसके सेंटर में गोला बनाएं और उसमें मौजूद कोई भी चीज़ का प्रयोग ना करें।

ऑफिस के रिसेप्‍शन की लोकेशन – यदि आप ऑफिस का निर्माण करवा रहे हैं तो आप इसको उत्तर-पूर्वी भाग में बनाये. इसके अलावा जब रिसेप्‍शनिस्‍ट कस्‍टमर या क्‍लायंट से बात करे तो, उसका मुख उत्तरी या पूर्वी दिशा में होना चाहिये.ऐसा करने से व्यवसाय के क्षेत्र में कई नए अवसर प्राप्‍त होते हैं.

Advertisements

 

ऑफिस में बहता हुआ पानी है फायदेमंद – वास्तु के अनुसार ऑफिस में बहता हुआ पानी बहुत ही शुभ माना जाता है. इसलिए आप अपने ऑफिस के अंदर फाउंटेन आदि का प्रयोग कर सकते हैं. इस फाउंटेन को आप ऑफिस के उत्तरी या पूर्वी कोने में रखें. जहां ये अधिक से अधिक लोगों का ध्‍यान अपनी ओर खींचे. इसके अलावा यदि आप चाहें तो ब्‍लैकफिश और 9 गोल्‍डफिश वाला एक्‍वेरियम भी अपने ऑफिस में रख सकते हैं.

वास्तु अनुसार अकाउंट्स डिपार्टमेंट – वास्तु अनुसार ऑफिस का अकाउंट्स डिपार्टमेंट दक्षिण पूर्वी भाग में होना चाहिए. यह शुभ माना जाता है. इस दिशा से समृद्धि प्राक्प्त होती है तथा अधिक रिर्टन को आकर्षित करता है.

Advertisements

 

दैनिक जीवन के उपयोगी और फलदायक वास्तु टिप्स

आसान वास्तु शास्त्र नियम दैनिक जीवन के लिए

vastu-tips-upcharnuskheसभी व्यक्ति चाहते हैं की उनके घर में सुख-शांति और सम्रद्धि बनी रहें. वास्तु शास्त्र में ऐसे कई नियम बताये गए हैं जिनके द्वारा हम आसानी से अपने घर में सुख-शांति पर सम्रद्धि को आसानी से ला सकते है. वास्तु के अनुसार दैनिक जीवन में हमें कुछ वास्तु के नियमो का पालन करना चाहिए जिससे घर में सुख-सम्रद्धि बनी रहती है. तो आइये जानते हैं कुछ वास्तु टिप्स जिनका हमें दैनिक जीवन में प्रयोग करना चाहिए.

Advertisements

 

  • वास्तु के अनुसार घर की सुख-शांति के लिए घर में सफाई होना बहुत ही जरुरी है. घर के साथ-साथ हमें अपने घर के बाहर भी साफ-सफाई रखनी चाहिए.
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार शाम के समय घर में एक दिया अवश्य जलाना चाहिए. इससे घर में यश और वैभव की कभी कमी नहीं होती है और भगवान की कृपा हमारे घर में बनी रहती है.
  • वास्तु अनुसार शाम के समय घर की सभी लाइट्स को कुछ देर के लिए खोल कर रखना चाहिए. माना जाता है की शाम के समय घर में प्रकाश होने से हमारा जीवन भी प्रकाश से भर जाता है.
  • वास्तु शास्त्र के आधार पर जब भी आप खाना खाये तो किचन से अधिक दुरी पर ना खाये. इसके अलावा आप जिस टेबल में खाना खाते हैं वह कांच की नहीं होनी चाहिए.

    Advertisements

     

  • वास्तु के अनुसार हमें कभी भी बिस्तर में बैठकर खाना नहीं खाना चाहिए. माना जाता है की ऐसा करने से घर में दरिद्रता आती है.
  • यदि आपके घर में या आस-पड़ोस में आपसे बड़े लोग रहते हैं तो उन्हें रोज प्रणाम करें और उनका आदर-सत्कार करें और उनसे कुछ सीखें.
  • यदि आपके कही पर कुत्ता दिखाई दें तो उसे परेशान ना करें. कई लोग कुत्तो को देखते ही उनपर पत्थर फेकने लगते हैं. वास्तु के अनुसार यह बिलकुल भी उचित नहीं है. इसलिए कही पर कुत्ता दिखाई दें तो उसे परेशान ना करें.

    Advertisements

     

वास्तु अनुसार जानिए घर में लगे शीशे से जुड़े शकुन-अपशकुन

शीशे से जुड़े शकुन-अपशकुन वास्तु अनुसार

%e0%a4%b6%e0%a5%80%e0%a4%b6%e0%a5%87-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%9c%e0%a5%81%e0%a5%9c%e0%a5%87-%e0%a4%b6%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%a8-%e0%a4%85%e0%a4%aa%e0%a4%b6%e0%a4%95%e0%a5%81%e0%a4%a8-%e0%a4%b5वैसे तो घर में किसी भी प्रकार की अनुपयोगी वस्तुएं नहीं रखना चाहिए लेकिन कभी कोई वस्तु यदि हम घर में गलत स्थान पर रख दें तो उसे तुरंत ठीक कर देना चाहिए. वास्तु दोष होने के कारण घर में धन की कमी होती है और आर्थिक परेशानियों का सामना भी करना पड़ सकता है. आज हम आपको शीशे से जुड़े शकुन और अपशकुन के बारे में बताएंगे. वास्तु के इन टिप्स को अपनाकर आप अपनी कायो परेशानियों को आसानी से समाप्त कर सकते हैं.

Advertisements

 

  • वास्तु के अनुसार शीशे को कभी भी बैडरूम में नहीं रखना चाहिए. यदि आपको बैडरूम में शीशा रखना है तो ऐसे स्थान पर रखें जहां पर सुबह उठते ही आपको शीशा ना दिखे.
  • टुटा हुआ शीशा कभी घर में ना रखें. यदि शीशा चटक गया हो तो उसे तुरंत घर से बाहर रख दें. टूटे शीशे से लौटने वाली रौशनी घर में नकारात्मक ऊर्जा को उतपन्न करती है तथा परिवार के सदस्यों के बीच दूरिया बढ़ सकती हैं. इसके अलावा टूटे हुए शीशे में चेहरा देखने से स्वास्थ सम्बंधी परेशानियां हो सकती हैं. इसलिए घर में टुटा हुआ शीशा ना रखें.

Advertisements

 

  • वास्तु के अनुसार गोल आकृति का शीशा भी घर में रखना शुभ नहीं माना जाता. आयताकार या वर्गाकार आयन घर में रखना उचित माना जाता है.
  • घर के पछिम या दक्षिण दिशा में शीशा नहीं रखना चाहिए. वास्तु के अनुसार यह शुभ नहीं माना जाता. इसलिए इस दिशा में कभी भी शीशा ना लगाए.
  • घर में लगे शीशे में कभी भी धूल ना जमने दें. इसके अलावा यदि आपके घर में बेसमेंट है या फिर दक्षिण या पछिम में टॉयलेट या बाथरूम है तो पूर्वी दिवार में वर्गाकार दर्पण लगा सकते हैं. इससे वास्तु दोष समाप्त होता है.

Advertisements

 

वास्तु अनुसार घर में खुशहाली और बरकत के लिए कभी ना रखें ये 13 चीजें

घर में बरकत लाने और सफलता पाने के सरल वास्तु टिप्स

%e0%a4%98%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%ac%e0%a4%b0%e0%a4%95%e0%a4%a4-%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%a8%e0%a5%87-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%b8%e0%a4%ab%e0%a4%b2%e0%a4%a4%e0%a4%be-%e0%a4%aaवास्तु का हमारे जीवन में बहुत ही महत्व है. वास्तु शास्त्र में हमारे द्वारा उपयोग की जाने वाली वस्तुओं का वर्णन किया गया है. जिनका हमारे जीवन में अत्यधिक महत्व होता है. अपने घर में सुख-शांति और सम्रद्धि को बरकरार रखने के लिए वास्तु शास्त्र में कई उपाय बताये गए हैं. यदि आप भी घर में सुख-शांति बनाये रखना चाहते हैं तो वास्तु शास्त्र में बताये गए उपयो का प्रयोग कर सकते हैं. इनसे घर में हमेशा खुशहाली बनी रहती हैं.

Advertisements

 

मकड़ी के जाले – वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में मकड़ी के जाले होने से घर में नकारात्मक ऊर्जा उतपन्न होती है. यह आपकी तरक्की में बाधा बनती है. इसलिए घर में कभी भी मकड़ी के जाले में ना होने दें.

खराब इलेक्ट्रॉनिक आइटम पुरानी बुक्स और न्यूज़ पेपर – यदि आपके घर में पुरानी घड़ी, पुराने बिजली के तार हो तो या तो इन्हें ठीक करा लें या घर से हटा दें. इसके अलावा आपके घर में यदि पुरानी किताबे या पुराने न्यूज़ पेपर रखें हो तो इन्हें घर से तुरन्त हटा दें.

झाड़ू को सही स्थान में रखें – कई लोग झाड़ू या पोछा अपने घर के खुले स्थान में रख देते हैं. वास्तु के अनुसार इन्हें घर के ऐसे स्थान में रखना चाहिए जहां पर किसी की नजर ना पड़े. इसके अलावा झाड़ू को किचन में रखना भी उचित नही माना जाता.

टुटा हुआ शीशा – वास्तु के अनुसार घर में खराब ट्यूब लाइट या टुटा हुआ शीशा रखना शुभ नही माना है. वास्तु अनुसार इससे घर में कलह होने की सम्भावना रहती है.

Advertisements

 

सूखे हुए फूल – यदि आप अपने घर की सजावट करते हैं तो उसके लिए कभी भी सूखे फूलो का प्रयोग ना करें. हमेश ताजे फूलो का ही प्रयोग करें.

कबूतर का घोंसला – यदि आपके घर के किसी स्थान में कबूतर का घोंसला हो तो इसे तुरन्त घर से हटा दें. वास्तु के अनुसार घर में कबूतर का घोंसला होना निर्धनता की निशानी माना जाता है.

मधुमक्खी का छत्ता – वास्तु के अनुसार घर में मधुमक्खी का छत्ता होना शुभ नही माना जाता. यदि आपके घर के किसी स्थान में मधुमक्खी का छत्ता है तो इसे घर से तुरन्त हटा दें.

दीवारों की पपड़ी – वास्तु के अनुसार घर की दीवारों की पपड़ी निकलना भी शुभ नहीं माना जाता. वास्तु के अनुसार घर में दीवारों की पपड़ी होने से आर्थिक स्थिति में बाधा उतपन्न हो सकती है.

Advertisements

 

टपकता हुआ नल – वास्तु अनुसार घर में टपकता हुआ नल इस बात का सूचक होता है की आपका खर्च आपकी आय से ज्यादा होगा. इसलिए घर में कोई भी ऐसा नल ना रहने दें. जो टपकता हो. इसके अलावा घर की दीवारों में सीलन भी ना आने. दें.

कैक्टस का पौधा – वास्तु अनुसार घर में कैक्टस का पौधा भी रखना चाहिए. इसे घर के बाहर किसी स्थान में लगा सकते हैं.

बाथरूम का दरवाजा खुला ना रखें – वास्तु अनुसार बाथरूम का यूज़ करने के बाद यूज़ कभी भी खुला ना रखें. वास्तु अनुसार बाथरूम का खुला दरवाजा नेगेटिव एनर्जी को क्रिएट करता है.

गैस या स्टोव को हमेशा साफ रखें – वास्तु अनुसार घर में आप जिस गैस या चूल्हे में खाना बनाते हैं उसे हमेशा साफ रखना चाहिए. गैस के ऊपर या नीचे कचरा ना होने दें.

घर के बेकार सामान को घर के अंदर या छत पर ना रखें – वास्तु अनुसार घर के बेकार सामान को घर के अंदर या छत पर ना रखें. इससे आपको मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए आपके घर को व घर की छत से हटा दें.

Advertisements

 

घर में कौन सी चीजे ना रखे वास्तु टिप्स के अनुसार Vastu Tips for home

वास्तु के अनुसार घर में कौन सी वस्तुएं नहीं रखनी चाहिए

%e0%a4%b5%e0%a4%be%e0%a4%b8%e0%a5%8d%e0%a4%a4%e0%a5%81-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%85%e0%a4%a8%e0%a5%81%e0%a4%b8%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%98%e0%a4%b0-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-%e0%a4%95%e0%a5%8cघर की सुख सम्रद्धि के लिए प्राचीन समय से ही घरों का निर्माण वस्तुए शास्त्र के अनुसार किया जाता है. वैसे तो घर में किसी भी प्रकार की अनुपयोगी वस्तुएं नहीं रखना चाहिए परन्तु कभी-कभी घर में कुछ टूटी हुयी वस्तुएं रख दी जाए तो उन्हें तुरंत घर से हटा देना चाहिए. यदि ये चीजें घर में होती हैं तो इनका नकारात्मक असर परिवार के सभी सदस्यों पर होता है.

Advertisements

 

इससे घर में धन की कमी होती है तथा घर में दरिद्रता भी आ सकती है. हमारे घर में अनेक चीज़ें ऐसी होती हैं जो हमारे आसपास होते हुए भी हम उनपर ध्यान नहीं देते. यह एक प्रकार की किरणों के रूप में हमें नुकसान पहुंचाती हैं. जिसे हम नकारात्मक ऊर्जा के रूप में जानते हैं. यह नकारात्मक ऊर्जा हमारे घर में अशांति का कारण बन जाती हैं. इस समस्या के समाधान के लिए आइये जानते हैं कुछ वास्तु टिप्स किन चीजों को घर में नहीं रखना चाहिए.

टूटी हुयी पलंग

घर की सुख शांति के लिए घर में किसी टूटी हुयी वास्तु को रखना उचित नहीं माना जाता. यदि किसी के घर में टूटी हुयी पलंग रखी हो तो उसे तुरन्तु घर से हटा दे. टूटी हुयी पलंग घर में रखने से पति-पत्नी के वैवाहिक जीवन में परेशानियां आने की सम्भावना होती है.

Advertisements

 

टूटे बर्तन

कई लोगो के घर में बर्तन टूट जाते हैं तो वे उन बर्तनों को घर में ही रख लेते हैं. टूटे बर्तनों को घर में नहीं रखना चाहिए यह शुभ नहीं माना जाता. इससे धन हानि होती है. इसके अलावा टूटे फूटे बर्तन घर में व्यर्थ की जगह भी घेरते हैं. टूटे बर्तन रखने से घर में दरिद्रता आती है साथ ही नकारात्मक ऊर्जा का आगमन होने लगता है. इसलिए अपने घर में कभी भी टूटे फूटे बर्तन नहीं रखने चाहिए.

टुटा हुआ शीशा

टुटा हुआ दर्पण यानि शीशा वास्तु के हिसाब से घर में रखना बहुत अशुभ माना जाता है. टुटा हुआ शीशा घर में रखने से घर में नकारात्मक ऊर्जा उतपन्न होती है तथा घर के सदस्यों में मानसिक तनाव उतपन्न होने लगता है.

खराब घड़ी

खराब घड़ी घर में रखना शुभ नहीं माना जाता. माना जाता है की  घड़ियों की स्थिति से हमारे घर-परिवार की उन्नति निर्धारित होती है. यदि घर में घड़ी खराब होगी तो घर के सदस्यों के काम में बाधा आती है तथा कोई भी काम करने में अधिक समय लगता है.

Advertisements

 

टूटी हुयी तस्वीर

यदि आपके घर में कोई तस्वीर टूट गयी हो तो उसे तुरंत घर से हटा दें. वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में टूटी हुयी तस्वीर रखने से वास्तु दोष उतपन्न होता है.

टुटा हुआ दरवाजा

घर का मुख्य दरवाजा या अन्य कोई दरवाजा कहीं से टूट रहा हो तो उसे तुरंत ठीक करवा लें. टुटा हुआ दरवाजा अशुभ माना जाता है. इनसे घर में नकारात्मक ऊर्जा उतपन्न होती है और वास्तु दोष उत्पन्न होने लगता है.

घर का फर्नीचर

आपके घर में जो भी फर्नीचर हो, वह बिल्कुल सही होना चहिये. टुटा फूटा फर्नीचर भी घर में नहीं रखना चाहिए. यह भी वास्तु दोष उतपन्न करता है.

Advertisements

 

वास्तु के अनुसार कुछ अन्य वस्तुएं जो घर में नहीं रखनी चाहिए 

  • बेडरूम में रात के वक्त झूठे बर्तन ना रखें, इससे धन का हानि होती है.
  • घर के मंदिर में परिवार के किसी मृत सदस्यों की फोटो ना लगाएं।
  • तिजोरी में किसी विवाद से संबंधित किसी भी प्रकार का पेपर या कोई कागज नहीं रखना चाहिए।
  • वास्तु के अनुसार हिंसक जानवरों चित्र घर में ना लगाए, क्योंकि हिंसक जानवरों के चित्र लगाना अशुभ माना जाता है। ऐसा इसलिए होता है कि रोज-रोज हिंसक जानवरों की तस्वीरें देखने से आपका स्वभाव भी हिंसक हो सकता है। इससे घर में तनाव और झगड़े का वातावरण भी पनप सकता है.
  • वास्तु के अनुसार यदि आपके घर का कोई भी नल लगातार टपक रहा हो तो उसकी तुरंत मरम्मत करवाएं, क्योंकि इसका दुष्परिणाम यह होगा कि आपका धन पानी की तरह बह जाएगा.

Advertisements

 

  • आजकल घर में भगवान शिव की नटराज अवस्था वाली मूर्ति होना एक आम बात है. भारतीय इतिहास के अनुसार नृत्य को पहला रूप देने वाले भगवान शिव ही थे, लेकिन वास्तु के अनुसार नटराज की मूर्ति को घर रखने को शुभ नहीं माना जाता.
  • वास्तु के अनुसार घर में झगड़े वाली तस्वीरों को लगाने से घर में रहने वाले सदस्यों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है. लोगों में आपसी तालमेल की जगह एक-दूसरे के प्रति द्वेष बढ़ता है. परिवार में अनचाहे झगड़े उत्पन्न होते हैं तथा घर का सुख-चैन खोने लगता है. इसलिए लड़ाई-झगड़े वाली तस्वीरों को घर में नहीं लगाना चाहिए.
  • वास्तु के अनुसार घर में डरावनी तस्वीरें नहीं लगानी चाहिए. ऐसी तस्वीरें लगाना आपके घर के लिए नुकसानदायक हों सकता है.
  • वास्तु के अनुसार घर में महाभारत की तस्वीरें नहीं लगानी चाहिए. ऐसी तस्वीरें घर में लगाने से घर की सुख-शांति कम हो जाती है.
  • वास्तु के अनुसार घर में कभी भी कैक्टस का पौधा नहीं रखना चाहिए. इस पौधे में मौजूद कांटे घर में नकारात्मक ऊर्जा को उत्पन्न करते हैं. इसलिए कभी भी घर में कैक्टस का पौधा ना लगाए.

Advertisements

 

घर का मंदिर पूजाघर के वास्तु टिप्स Vastu tips for temple at home

वास्‍तु शास्‍त्र के अनुसार पूजा कक्ष बनाने के उपाय (According to Vastu Shastra puja room to make way)

वास्‍तु शास्‍त्र के अनुसार पूजा कक्ष बनाने के उपाय upcharnuskheहिन्दू धर्म को आस्था पर केन्द्रित माना जाता है. हर हिन्दू व्यक्ति के घर में मंदिर जरूर होता है. भागदौड़ से भरे इस तनावपूर्ण जीवन में पूजा घर बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है. हर व्यक्त‌ि चाहता है की उसके घर में सुख शांति हो तथा सुख-शांत‌ि और समृद्ध‌ि के ल‌िए घर में भगवान की मूर्त‌ियां लाकर रखते हैं और उनकी पूजा अर्चना करते हैं.

Advertisements

 

वास्तु शास्त्र का हमारे जीवन में बहुत ही महत्व होता है. जिससे लोग अपनी जीवन को लाभदायक बनाने का प्रयास करते रहतें हैं. लेकिन घर बनवाते समय घर का मंदिर या पूजा-पाठ के लिए स्थान बनवाते समय अज्ञान के अभाव में कई बार लोगों से अनेक प्रकार की गलतियां हो जाती हैं.  जिसके कारण प्राणियों के जीवन चक्र में प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है. आइये जानते हैं घर के मंदिर के निमार्ण के लिए कुछ वास्तु टिप्स.

  • घर में मंदिर बनाते समय हमेशा उत्तर-पूर्वी दिशा सबसे उपयुक्त मानी गयी है. पूजा घर को ईशान दिशा में बनवाने से घर में ज्ञान की वृद्धि तथा आत्मा की शुद्धि होती है तथा सुख-समृद्धि व शान्ति की वृद्धि होती है.
  • मंदिर के सामने, ऊपर, नीचे या बगल में रसोई नहीं बनानी चाहिए और अगर आपका मंदिर बैडरूम में है तो मंदिर की तरफ पैर कर के नहीं सोना चहिये.
  • पूजा घर के लिए हल्के रंगो को शुभ माना जाता है. आप इसके लिए दीवारों पर हल्का पीला रंग करा सकते हैं.
  • वास्‍तु शास्त्र के अनुसार पूजा घर तिकोने आकार का हो तो शुभ माना जाता है तथा पूजा घर की छत भी तिकोनी होनी चाहिये इससे नकारात्मक ऊर्जा समाप्त हो जाती है.

Advertisements

 

  • जब भी आप घर में भगवान की मूर्ति रखे तो मूर्तियों को करीब 1 इंच की दुरी पर रखें. मूर्ति पूर्व या उत्तर दिशा की ओर दीवार के पास रखनी चाहिए. मूर्तियों को एक दूसरे के सामने ना रखें.
  • पूजा घर को सजाने के लिये सबसे अच्छा तांबे के बर्तन को माना जाता है इसलिए मंदिर को सजाने के लिए हमेशा ताम्बे के बर्तन का प्रयोग करें तथा दिया हमेशा भगवान की मूर्ति के सामने ही जलाना चाहिये.
  • मंदिर में कभी भी भगवान की मूर्ति के साथ पितरो की मूर्ति ना रखें. अपने पूजा घर को हमेशा साफ़ रखें तथा पूजा घर में कभी सोना नहीं चाहिए.
  • पूजा घर में दिया रखने की जगह, हवन कुंड या यज्ञवेदी दक्षिण- पूर्व दिशा की तरफ होनी चाहिए.
  • मंदिर में कभी भी खंडित मूर्ति या तस्वीर नहीं रखनी चाहिए. इसके अलावा मूर्ति का आकर अधिक बड़ा नहीं होना चहिये.
  • घर के अंदर शिवलिंग रखना वर्जित माना जाता है. क्योंक‌ि श‌िवल‌िंग शून्य और वैराग्य का प्रतीक है. लेकिन आप अन्य देवी-देवताओं के साथ भगवान शिव की तस्वीर या मूर्ति को स्थापित के सकते हैं.
  • पूजा घर में कभी भी झाड़ू तथा चप्पले नहीं रखनी चाहिए तथा मंदिर को हमेशा साफ़ स्वस्छ रखना चाहिए.
  • घर के मंदिर में कभी भी स्थिर प्रतिमा नहीं लगानी चहिये. यह घर गृहस्थी के लिए उचित नहीं माना जाता. कागज की तस्वीरें या छोटी मुर्तिया लगा सकते हैं.

Advertisements

 

घर के टॉयलेट शौचालय के लिए वास्तु टिप्स Vastu tips for toilet

वास्तु के अनुसार शौचालय टॉयलेट बनाने के टिप्स

आमतौर पर आजकल सभी घरों में बाथरूम और टॉयलेट को एक साथ बनाया जाता है. हर घर में आजकल सभी प्रकार की सुख सुविधाएं देखने को मिलती हैं. लोग आरामदायक जीवन व्यतीत करने के लिए अनेक कार्यो को करते हैं परन्तु वास्तु के नियमों के अनुसार यदि घर बनाया जाये तो जीवन खुशहाल होने लगता है.

Advertisements

 

वास्तु की दिशाओं का हमारे जीवन में बड़ा महत्व है. अगर आपके घर में गलत दिशा में कोई निर्माण होगा, तो उससे आपके परिवार को किसी न किसी तरह की हानि होगी. वास्तु दोष उत्तपन्न होने के कारण घर में रहने वालों सदस्यों को अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है. घर में अशांति होने लगती है तथा घर का माहौल तनावपूर्ण होने लगता है. वास्तु के नियमों के मतानुसार स्नानगृह में चंद्रमा का वास है तथा शौचालय में राहू का. यदि किसी घर में स्नानगृह और शौचालय एक साथ हैं तो चंद्रमा और राहू एक साथ होने से चंद्रमा को राहू से ग्रहण लग जाता है, जिससे चंद्रमा दोषपूर्ण हो जाता है. चंद्रमा के दूषित होते ही घर में वास्तु दोष होने लगता है. इसलिए कभी भी बाथरूम तथा टॉयलेट को साथ में नहीं बनाना चाहिए. इस समस्या के समाधान के लिए वास्तु के अनुसार ही भवन का निर्माण करना चाहिए.

  • घर का टॉयलेट बनाने के लिए वास्तु शास्त्र के मुताबिक सबसे अच्छा स्थान दक्षिण-पश्चिम और दक्षिण दिशा को माना जाता है.
  • वास्तु शास्त्र के नियमों के अनुसार शौचालय में नल उत्तर-पूर्व दिशा या पश्चिम दिशा में ही लगाना उचित होता है.
  • वास्तु के नियमों के अनुसार टॉयलेट में बेसिन ऐसे लगाया जाना चाहिए, ताकि शौच के समय व्यक्ति का मुहं पूर्व दिशा की तरफ न हो.

Advertisements

 

  • वास्तु के अनुसार टॉयलेट में कम्मोड को इस प्रकार लगाए ताकि उसमे बैठे हुए व्यक्ति का मुंह उत्तर या दक्षिण दिशा में रहें. 
  • शौचालय में दरवाजा और खिड़कियां दक्षिण दिशा को में ना बनवाए. आप चाहे तो किसी अन्य दिशा में खिड़की तथा दरवाजा बनवा सकते हैं.
  • वास्तु के अनुसार संग्लन शौचालय या शौचालय का गटर घर के उत्तर या पश्चिम दिशा में बनाना उचित माना जाता है.
  • जब भी आप घर बनवाए तो घर के मध्य में, दक्षिण-पूर्व दिशा या उत्तर-पूर्व दिशा में शौचालय नहीं बनाना चाहिए. यह उचित नहीं माना जाता है.
  • वास्तु के अनुसार शौचलय में गीजर को अग्नि कोण में लगाना उचित माना जाता है.
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में यदि सीढ़िया है तो उनके नीचे टॉयलेट नहीं बनाना चाहिए. यह वास्तु की दृष्टि से शुभ नहीं माना जाता.

Advertisements

 

रसोईघर किचन के वास्तु टिप्स Vastu tips for kitchen

वास्तु के अनुसार रसोईघर बनाने के टिप्स(Kitchen According to Vastu  Tips)

वास्तु के अनुसार रसोईघर बनाने के टिप्स upcharnuskheरसोईघर को हमारे घर का सबसे महत्तवपूर्ण कक्ष माना जाता है. रसोईघर में हम पेट को भरने के लिए भोजन बनाते हैं. यदि हमारा पेट भरा रहता है तो हमारा दिन भी अच्छा गुजरता है तथा घर की खुशहाली किचन से ही होकर निकलती है. कई बार हम अपने किचन की साफ़ सफाई को अनदेखा कर देते हैं तो घर का माहौल अशांति पूर्ण रहता है.

Advertisements

 

देखने में आता है कि वास्तु के विपरित बनायी गयी रसोई किचिन-एक्सीडेन्ट को तो बढ़ावा देती ही है साथ ही अनचाहे मेहमानों की संख्या में भी बढ़ोतरी करती है. वास्तु के अनुसार अपने रसोई घर में पानी का मटका, गैस आदि को सही स्थान पर रखना चाहिए. इन्हे सही स्थान पर ना रखने से पेट संबंधी बीमारियाँ व तनाव से ग्रसित होने की संभावनाएँ रहती हैं. वास्तु के अनुसार हमारे किचन में कौन सी वस्तु कहा पर होनी चाहिए और हमारे किचन की दिशा किस तरफ हो इसके लिए आइये जानते है कुछ रसोईघर के लिए वास्तु टिप्स.

  • घर में रसोई बनाने के लिए आग्नेय कोण को सबसे महत्वपूर्ण दिशा माना जाता है यानि आप जब भी किचन बनाए तो आग्नेय कोण में ही बनाए.
  • यदि किन्ही कारणों की वजह से आग्नेय कोण में रसोई नहीं बन सके तो इसका निर्माण घर के नैरूत या वायव्ह हिस्से के आग्नेय भाग करें.
  • रसोई में कुकिंग स्टोव, गैस का चूल्हा या कुकिंग रेंज हमेशा दक्षिण पूर्वी कोने में होना चाहिए.
  • पानी के भंडारण, आर ओ, पानी फिल्टर और अन्य पानी के उपकरणों को उत्तर पूर्व दिशा में रखना चाहिए.
  • रसोई घर में जो सिंक लगा हो उसकी दिशा उत्तर पूर्व में होनी चाहिए.

Advertisements

 

  • रसोई घर में कुछ भी बिजली के सामान के लिए, दक्षिण पूर्व या दक्षिण दिशा उचित मानी जाती है.
  • किचन में फ्रिज पश्चिम, दक्षिण, दक्षिण पूर्व या दक्षिण पश्चिम दिशा में रखना उचित माना जाता है.
  • खाना पकाने वालो अनाज, मसाले, दाल, तेल, आटा और अन्य खाद्य सामग्रियों, बर्तन, क्रॉकरी इत्यादि के भंडारण के लिए उचित स्थान पश्चिम या दक्षिण दिशा को माना गया है.
  • रसोई घर में में जब भी कोई खाना बनाए उस समय उसका मुंह पूर्व दिशा की ओर होना चाहिये.
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार किचन की कोई दिवार शौचालय या बाथरूम के साथ मिली हुयी नहीं होनी चाहिए और शौचालय और बाथरूम के नीचे या ऊपर किचन नहीं होना चाहिए.
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार रसोई घर के पास में शौचालय नहीं बनाना चाहिए. यह अशुभ माना जाता है.
  • रसोई का दरवाजा उत्तर, पूर्व या पश्चिम दिशा में खुलने वाला होना चाहिए यह शुभ माना जाता है.
  • किचन को हमेशा साफ-सुथरा रखें. ज्यादा देर तक जूठे बर्तनों को किचन में ना रखे. इससे नकारात्मक ऊर्जा उतपन्न होती है.
  • रसोई घर की खिड़किया और हवा वाहर फेखने वाला एग्जॉस्ट फैन पूर्व दिशा की ओर में होना चाहिए, इसके अलावा इन्हे उत्तरी दीवार में भी लगाया जा सकता है.
  • रसोई घर में पूजा का स्थान नहीं होना चाहिए.
  • कोशिश करें की खाने की मेज रसोई घर में ना रहें. यदि घर में जगह की कमी है तो आप खाने की मेज को उत्तर पश्चिम दिशा में रख सकते हैं और खाना खाते समय चेहरा पूर्व या उत्तर की ओर रखना शुभ होता है.

Advertisements