Category Archives: घरेलू जड़ी बूटियाँ

ब्राह्मी के उपयोग और इसके स्वास्थवर्धक फायदे Uses of brahmi for health

ब्राम्ही के अनोखे गुण, फायदे और स्वास्थ लाभ Top benefits of brahmi

प्राचीन समय से ही ब्राम्ही को एक अच्छी औषधि के रूप में जाना जाता है. यह सफ़ेद तथा हरे रंग की होती है तथा इसका स्वाद फीका होता है. यह शरीर को ठंडक देने वाली औषधि के रूप में जाती जाती है. ब्राह्मी का वैज्ञानिक नाम बाकोपा मोनिएरी है. इसका प्रयोग सदियों से आवश्यक जड़ी- बूटी के रूप में किया जा रहा है. ब्राह्मी में  हायड्रोकोटिलिन, एशियाटिकोसाइड, एल्केलाइड, सेपोनिन व अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं जिससे दिमाग का विकास होता है साथ ही स्मरण शक्ति भी बढ़ती है.

Advertisements

 

इसके अलावा इसके प्रयोग से अन्य स्वास्थ से सम्बन्धित कई समस्या को आसानी से ठीक किया जा सकता है. आयुर्वेद की दृष्टि से ब्राह्मी बहुत ही महत्त्वपूर्ण औषधि मानी गई है. जिसका उपयोग कई लोग सदियों से करते हुए आ रहे हैं. आमतौर पर ब्राम्ही का पौधा ठंडे स्थानों पर पाया जाता है. भारत में इसकी उपज अत्यधिक की जाती है. ब्राम्ही अनेक रोगों के निदान के साथ-साथ उम्र बढ़ाने में भी सहायक होती है.

Advertisements

 

ब्राम्ही के अनोखे फायदे 

कब्ज को दूर करने में सहायक है ब्राह्मी (Brahmi for Constipation) –

ब्राह्मी कब्ज की समस्या को दूर करने का रामबाण इलाज है. कब्ज की समस्या होने पर ब्राह्मी का सेवन करें. इससे कब्ज तो ठीक होता ही है साथ ही पेट से संबंधित अन्य समस्याएं भी समाप्त हो जाती हैं.

एकाग्रता बढ़ाए ब्राह्मी से (Brahmi for Increased concentration) –

एकाग्रता बढ़ाने के लिए भी ब्राह्मी बहुत अच्छी मानी जाती है. इसका प्रयोग करने के लिए ब्राह्मी के चूर्ण को दूध के साथ सेवन करें. इससे एकाग्रता को आसानी से बढ़ाया जा सकता है.

Advertisements

 

त्वचा के रंग को निखारती है ब्राह्मी (Brahmi for beautiful skin) –

ब्राह्मी ना केवल हमारे शरीर के लिए लाभदायक है बल्कि इसके सेवन से त्वचा की रंगत भी निखरती है. इसके सेवन से शरीर में होने वाले विशैले पदार्थ बहार निकल जाते हैं. जिससे नए सेल्स बनते हैं और त्वचा में निखर आता है.

ब्राह्मी से खांसी और बुखार दूर करें (Brahmi for fever and cough) –

ब्राह्मी खासी और बुखार की समस्या को दूर करने में भी सहायक है. इसके प्रयोग करने के लिए थोड़ा ब्राह्मी का चूर्ण लें. अब इसमें समान मात्रा में शंखपुष्पी, बादाम, छोटी या सफ़ेद इलायची को पानी में डालकर छान लें. अब इस पानी को पी लें. इससे खासी और बुखार की समस्या कम होने लगेगी.

Advertisements

 

अनिद्रा की समस्या को दूर करने के लिए ब्राम्ही का उपयोग ((Brahmi for Insomnia) –

अनेक लोगो को नीद ना आने की समस्या होती है. इस समस्या को ठीक करने के लिए ब्राह्मी का प्रयोग भी किया जाता है. इसका प्रयोग करने के लिए रोजाना रात को सोने से पहले ब्राह्मी के एक चम्मच चूर्ण को एक ग्लास दूध में डालकर पीये. इससे अनिद्रा की समस्या ठीक होने लगती है.

दांत दर्द में लाभदायक ब्राह्मी ((Brahmi for Tooth Ache) –

ब्राह्मी का उपयोग दांत दर्द में भी लाभदायक होता है. इसके उपयोग के लिए आधा ग्लास पानी लें. अब इसमें आधा चम्मच ब्राह्मी चूर्ण डालकर गर्म करें. अब इस पानी से रोजाना दिन में दो बार कुल्ला करें. इससे दांत दर्द कम होने लगेगा.

Advertisements

 

फूल गोभी के अनमोल शारीरिक लाभ और अनोखे गुण Cauliflower nutrition facts plus benefits

फूल गोभी के स्वास्थ लाभ और सौन्दर्य गुण तथा फायदे Cauliflower uses and benefits

पत्ता गोभी के साथ-साथ फूल गोभी भी हमारे स्वास्थ के लिए लाभदायक मानी जाती हैं. इसमें प्रोटीन, फॉस्फोरस, लौह तत्व, पोटैशियम, गंधक, नियासीन और विटामिन `सी´ आदि तत्व पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं. फूल गोभी में गंधक एवं क्लोरीन घटकों की अधिक मात्रा पायी जाती है जिसके कारण यह शरीर में होने वाली गन्दगी को साफ करने में सहायक होती है. फूलगोभी में सलफोराफीन नमक तत्व पाया जाता है जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है.

Advertisements

 

आमतौर पर फूल गोभी का प्रयोग भारत में सब्जी, पराठा, भरवाँ, दुलमा, अचार के रूप में किया जाता है. गोभी एक ऐसी सब्जी से जो आसानी से प्राप्त हो जाती है तथा इसमें अनेक प्रकार के फायदेमंद तत्व पाये जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक होते हैं. इसके अलावा फूल गोभी में टारट्रोनिक नामक एसिड पाया जाता है जो हमारे शरीर से अनचाही चरबी, शर्करा एवं अन्य पदार्थों को इकट्ठा होने से रोकता है. इसलिए फूल गोभी का सेवन अधिक किया जाता है और यह सब्जी अनेक लोगो की पसंदीदा सब्जी भी होती है.

Advertisements

 

फूल गोभी के अनमोल लाभ और फायदे 

मोटापा कम करने में सहायक फूल गोभी (Cauliflower for Weight Loss) –

फूल गोभी के सेवन से मोटापे को कण्ट्रोल में किया जा सकता है. फूल गोभी का सेवन सब्जी या सलाद के रूप में करें. इससे मोटापे को कण्ट्रोल किया जा सकता है.

गर्भावस्था के दौरान फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower in Pregnancy) –

फूल गोभी में फाइबर के साथ विभिन्न आवश्यक विटामिन और खनिज पाये जाते हैं. जो गर्भावस्था के दौरान बहुत ही लाभदायक होते हैं. इसलिए फूल गोभी को अपने आहार में शामिल करें. इससे गर्भावस्था के दौरान किसी प्रकार की समस्या नही होती.

Advertisements

 

स्वस्थ हड्डियों के लिए फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower for Healthy Bones) –

फूलगोभी में विटामिन सी पाया जाता है जो कॉलेजन के उत्पादन में हमारी मदद करता है. इसके अलावा इसमें विटामिन के पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाये रखने में सहायक होती है.

पेट की समस्याएँ समाप्त करने में सहायक फूल गोभी (Cauliflower for Stomach Problems) –

फूलगोभी में डाइटरी फाइबर पाया जाता है. जो पाचन तंत्र को उचित रखने में सहायक होता है. इसके सेवन से शरीर से विषैले पदार्थ समाप्त हो जाते हैं और पेट से जुड़ी अनेक समस्याएं दूर होने लगती हैं.

Advertisements

 

कब्ज की समस्या दूर करने के लिए फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower for Constipation –

फूल गोभी का प्रयोग कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए भी किया जाता है. इसका प्रयोग करने के लिए रात को सोते समय आधा गिलास गोभी का रस पीये. इससे कब्ज की समस्या को आसानी से समाप्त किया जा सकता है.

तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower for Cellular Health) –

फूलगोभी में कॉलीन और फॉस्फोरस पाया जाता है जो तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने में काफी सहायक होता है. फूल गोभी के सेवन से तंत्रिका तंत्र को आसानी से स्वस्थ बनाया जा सकता है.

Advertisements

 

अल्सर की समस्या को दूर करने के लिए फूल गोभी (Cauliflower Beneficial for Ulcer Patients ) –

पेट में अल्सर की समस्या को ठीक करने के लिए फूलगोभी लाभदायक होती है. इसका प्रयोग करने के लिए सामान्य भोजन करने के बाद एक ग्लास गोभी का रस पीये. दिन में चार या पांच बार गोभी का जूस पीये. इससे अलसर की समस्या को आसानी से समाप्त किया जा सकता है.

मसूड़ों को स्वस्थ रखने के लिए फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower for Strong Jaw) –

फूल गोभी से शरीर तो स्वस्थ रहता ही है साथ ही मसूड़े भी स्वस्थ रहते हैं. रोजाना फुल गोभी के पत्तों को चबा-चबाकर खाये. इससे मसूड़ों को ताकत मिलती है और सदैव स्वस्थ रहते हैं.

Advertisements

 

पत्ता या बंद गोभी के गुण, बेहतरीन फायदे और चमत्कारी लाभ What are the health benefits of cabbage

पत्ता गोभी के स्वास्थ लाभ इसके गुण और अनोखे फायदे Health benefits of cabbage

पत्ता गोभी हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही फायदेमंद सब्जी है. पत्ता गोभी को कई जगहों में बंद गोभी के नाम से भी जाना जाता है. पत्ता गोभी में विटामिन ए की अच्छी मात्रा पायी जाती है. जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. पत्ता गोभी में विटामिन के साथ-साथ प्रोटीन और खनिज लवण भी भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं.

Advertisements

 

आमतौर पर पत्ता गोभी का प्रयोग सलाद तथा सब्जो दोनों ही रूपों में किया जाता है. पत्ता गोभी में अनेक ऐसे तत्व पाये जाते हैं. जिनकी मदद से हमारी त्वचा निखरती है साथ ही बालों के लिए भी यह बहुत लाभदायक होती है. इसके अलावा पत्ता गोभी का प्रयोग अनेक बीमारियों से लड़ने के लिए भी किया जाता है.

पत्ता गोभी के सेवन से शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी को भी आसानी से समाप्त किया जा सकता है. इसमें अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाये जाते हैं जिनकी मदद से हम अपने शरीर को आसानी से स्वस्थ रखने में सहायक हो सकते हैं. इसलिए पत्ता गोभी को सलाद के सब्जी के रूप में प्रयोग में लाया जा सकता है. अनेक लोगो को पत्ता गोभी खाना पसंद नही होता लेकिन स्वस्थ शरीर के लिए पत्ता गोभी बहुत ही लाभदायक एवम पौष्टिकता से भरपूर सब्जी मानी जाती है.

Advertisements

 

पत्ता गोभी के स्वास्थवर्धक लाभ 

पत्ता गोभी से दूर करें खून की कमी (Cabbage for anemia) –

पत्ता गोभी हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही लाभदायक होती है तथा इसके सेवन से खून की कमी को भी आसानी से समाप्त किया जा सकता है. इसमें लौह तत्व की अधिक मात्रा पायी जाती है. जिससे शरीर में खून की कमी नही होती. सप्ताह में चार बार पत्ता गोभी का सेवन अवश्य करना चाहिए.

हड्डियों और दांतों के लिए लाभदायक है पत्ता गोभी (Cabbage for strong bones and teeth) –

गोभी ना केवल शरीर के लिए लाभदायक है बल्कि इसके सेवन से हम अपनी हड्डियों और दांतों को भी मजबूत रख सकते हैं. इसमें फास्फोरस और कैल्शियम की भरपूर मात्रा पायी जाती जो हमारी हड्डियों और दांतों को मजबूत रखने में सहायक है. इसलिए पत्ता गोभी का सेवन करना चाहिए. इसके अलावा आप कच्ची गोभी भी खा सकते हैं इससे दांतों में पायरिया की समस्या नही होती.

Advertisements

 

बालों के लिए फायदेमंद पत्ता गोभी (Cabbage for hair) –

पत्ता गोभी के सेवन से हमारे बालों को बढ़ाने में भी मदद मिलती है तथा इससे बालों के झड़ने की समस्या को भी आसानी से कम किया जा सकता है. इसके लिए रोजाना पत्ता गोभो को सब्जी के रूप में या सलाद के रूप में प्रयोग में लाये. इससे बाल तेजी से बढ़ने लगेंगे.

डायबिटीज में लाभदायक पत्ता गोभी (Cabbage for diabetes) –

डायबिटीज यानि मधुमेह के रोगियों के लिए पत्ता गोभी बहुत फायदेमंद होती है. रोजाना सलाद के रूप में पत्ता गोभी का सेवन करने से डायबिटीज की बीमारी को काफी हद तक कम किया जा सकता है.

Advertisements

 

त्वचा के लिए फायदेमंद पत्ता गोभी (Cabbage for glowing skin) –

पत्ता गोभी में सल्फर और आयरन मौजूद होता है. जिससे हमारी त्वचा खूबसूरत बनती है. पत्ता गोभी को सब्जी, जूस या सलाद के रूप में लेने से त्वचा का निखर बढ़ता है और त्वचा में होने वाली अनेक समस्याओं को समाप्त किया जा सकता है.

पत्ता गोभी से घटाए वजन (Cabbage for weight loss) –

पत्ता गोभी में वसा और कैलोरी की मात्रा कम पायी जाती है जिससे वजन नही बढ़ता. यदि शरीर में अत्यधिक मोटापा हो गया है तो रोजाना अपने आहार में पत्ता गोभी को शामिल करें. इससे वजन आसानी से कम होने लगेगा.

Advertisements

 

मौसमी के सौन्दर्य तथा शारीरिक लाभ और अनमोल गुण Seasonal uses and health benefits

मौसमी के स्वास्थवर्धक फायदे इसका उपयोग और गुण Seasonal nutrition facts and benefits

बदलते मौसम के साथ ज्‍यादा संक्रमण फैलने की संभावना होती है. ऐसे में जरुरी है की हम कुछ आसान घरेलु जड़ी बूटियों की मदद से अपने शरीर को स्वस्थ रखे और उचित सेहत बनाए. हमारे घरों में अनेक ऐसी चीजे पायी जाती हैं.

Advertisements

 

जिनके सेवन से हम आसानी से अनेक परेशानियों को दूर करने में सहायक हैं. इनमे से एक है मौसमी. रोजाना मौसमी का सेवन कुछ मात्रा में करने से शरीर में होने वाले अनेक रोगी की रोकथाम की जा सकती है.

मौसमी में फ्लेवोनॉइड्स नामक तत्व पाया जाता है. जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. साथ ही इसमें विटामिन सी की भरपूर मात्रा पायी जाती है जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में लाभदायक होती है. मौसमी का खट्टा-मीठा स्वाद अनेक रोगों को ठीक करने में हमारी मदद करता है. मौसम बदलने के साथ-साथ अनेक बीमारिया होने लगती हैं. मौसमी के सेवन से ना केवल हमारा शरीर स्वस्थ रहता है बल्कि हमारी सुंदरता भी निखरती है. इसलिए रोजाना कुछ मात्रा में मौसमी के रस का सेवन करना लाभदायक माना जाता है.

Advertisements

 

मौसमी के चमत्कारी फायदे 

पीलिया के लिए लाभदायक मौसमी (Seasonal for jaundice) –

पीलिया से परेशान व्यक्ति को मौसमी का जूस पिलाना चाहिए. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़ा मौसमी का जूस लें. अब इसमें थोड़ा ग्लूकोज डालें. अब इस मिश्रण को पीलिया के रोगी को पिला दे. इससे लाभ होगा.

स्कर्वी रोग से बचाव करती है मौसमी (Seasonal for Scurvy) –

स्कर्वी रोग विटामिन सी की कमी से होने वाला रोग है. इस रोग की रोकथान के लिए मौसमी का सेवन लाभदायक होता है क्योंकि मौसमी में विटामिन सी की उचित मात्रा पायी जाती है जिसके कारण स्कर्वी रोग से छुटकारा पाया जा सकता है.

Advertisements

 

पाचन शक्ति बढ़ाता है मौसमी (Seasonal for increases digestive power) –

मौसमी रस यौगिकों में क्रमिक वृत्तों में सिकुड़ने वाली गति के लिए लाभदायक होती है. रोजाना मौसमी के रस का सेवन करने से पाचन शक्ति प्रबल होती है और खाना अच्छी तरह से पच जाता है.

कब्ज में लाभदायक मौसमी (Seasonal for Constipation) –

मौसमी के रस में पोटेशियम काफी मात्रा में मौजूद होता है. कब्ज आदि की समस्या को ठीक करने के लिए भी मौसमी फायदेमंद होती है. कब्ज की समस्या को ठीक करने के लिए कुछ मात्रा में मौसमी का रस पीए. इससे कब्ज की परेशानी कम होने लगेगी.

Advertisements

 

मौसमी से त्वचा लाभ (Seasonal for skin) –

मौसमी ना केवल हमारे स्वास्थ के लिए बल्कि हमारी त्वचा के लिए भी बहुत ही लाभदायक होती है. मौसमी का रस त्वचा से दाग-धब्बों को निकालने में सहायक होता है. रोजाना कुछ मात्रा में मौसमी का रस पीए. इससे त्वचा के दाग-धब्बे धीरे-धीरे कम होने लगेंगे.

मौसमी से मधुमेह में लाभ (Seasonal for diabetes)-

मौसमी के सेवन से मधुमेह यानि डाइबिटीज़ की समस्या को भी आसानी से ठीक किया जा सकता है. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़ा आंवला रस और शहद को मौसमी के रस के साथ मिलाकर सुबह खाली पेट कुछ मात्रा में लेने से मधुमेह की समस्या कम होने लगती है.

Advertisements

 

मौसमी अच्छी आँखों के लिए लाभदायक (Seasonal for beautiful eyes) –

मौसमी में एंटीऑक्सिडेंट और जीवाणुरोधी गुण पाए जाते हैं. जिससे आँखों की देखभाल में मदद मिलती है. सादे पानी में कुछ बुँदे मौसमी के रस की डालकर अपने आँखों को धोए. इससे आँखों के संक्रमण को आसानी से दूर किया जा सकता है.

मौसमी कम करती है कोलेस्ट्रॉल (Seasonal for Cholesterol problem) –

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए भी मौसमी लाभदायक होती है. रोजाना मौसमी का जूस पीने से कोलेस्ट्रॉल की समस्या को आसानी से कम किया जा सकता है.

Advertisements

 

 

पीपल के औषधीय गुण और चमत्कारी उपाय Health benefits of ficus religiosa

पीपल के अनमोल लाभ, फायदे और चमत्कारी गुण Ficus religiosa benefits

पीपल एक ऐसा पेड़ है जिसको शास्त्रों के अनुसार बहुत ही शुद्ध माना जाता है. कहा जाता है की पीपल के पेड़ में देवी-देवताओ का वास होता है. भारतीय समाज में पीपल की पूजा करना शुभ माना जाता है.

Advertisements

 

इसके अलावा पीपल हमारे स्वास्थ को उत्तम रखने का भी बहुत अच्छा उपाय है. प्रकृति में हमारे उत्तम स्वास्थ के लिए अनेक जड़ी-बूटियां मिल जाती हैं. इन जड़ी-बूटियों के प्रयोग से हम सदैव स्वस्थ रह सकते हैं. पीपल का पेड़ हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही अच्छा है क्योंकि यह अत्यधिक आक्सीजन छोड़ने वाला पेड़ है.

घर के आस-पास इस पेड़ के होने से हमें सुद्ध आक्सीजन मिलती है तथा इसकी पत्तियो व् छाल को भी अनेक रोगों के उपचार के लिए प्रयोग में लाया जाता है. वनस्पतियों में एक पीपल का वृक्ष ही ऐसा वृक्ष है जो दिन और रात दोनों समय अर्थात् 24 घण्टे आॅक्सीजन प्रदान करता है. जिससे व्यक्ति अनेक समस्याओं से बच सकता है. पीपल का प्रयोग अन्य कई रोगी की रोकथाम के लिए भी किया जाता है.

Advertisements

 

पीपल के अनमोल लाभ 

दांतों के लिए फायदेमंद है पीपल (Ficus religiosa for strong teeth) –

दांतों से जुडी समस्याओं को ठीक करने के लिए पीपल बहुत ही लाभदायक है. इसका प्रयोग करने के लिए 2 ग्राम काली मिर्च, 10 ग्राम पीपल की छाल और कत्था लें. अब इसे बारीक़ पीस कर पाउडर बना लें. अब इस पाउडर से अपने दांतों को साफ करें. इससे दांतों से संबंधित परेशानियों जैसे दांतों की बदबू, दांतों का हिलना और मसूड़ों का दर्द व सड़न आदि समाप्त हो आएगी.

झुर्रियों से बचाएगा पीपल (Ficus religiosa wrinkles) – चे

चेहरे पर झुर्रिया होने के कारण चेहरा बहुत ही बूढ़ा सा लगने लगता है. झुर्रियों की समस्या को खत्म करने के लिए पीपल का प्रयोग लाभदायक होता है. इसका प्रयोग करने के लिए पीपल की जड़ो को काटे. अब इन जड़ो को अच्छी तरह धोकर पीस लें और इसका पेस्ट बना लें. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाए. इससे चेहरे से झुर्रिया समाप्त होने लगेंगी.

Advertisements

 

दाद और खुजली को दूर करें पीपल से (Ficus religiosa for Ringworm and itching problem) –

दाद और खाज की समस्या को खत्म करने के लिए पीपल बहुत ही लाभदायक है. इसके प्रयोग के लिए पीपल के 4 पत्तों को चबाते रहें. इसके अलावा पीपल के पेड़ की छाल का काढ़ा बनकर पीए. इससे दाद और खुजली की समस्या को आसानी से कम किया जा सकता है.

पेट की तकलीफ को दूर करे पीपल (Ficus religiosa for stomach problem) –

पेट की अनेक समस्याएं जैसे कब्ज, गैस और पेट दर्द से राहत पाने क्ले लिए भी पीपल फायदेमंद होता है. इसके ताजे पत्तो को पीस कर इसका रस सुबह-शाम पीए. इससे लाभ होगा.

Advertisements

 

जुकाम से मुक्ति दिलाये पीपल (Ficus religiosa for common cold) –

जुकाम की समस्या को ठीक करने के लिए भी पीपल फायदेमंद होता है. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़े पीपल के पत्ते लें. अब इन्हे छाया में सुखा लें. अब इन पत्तो को पीस कर चूर्ण बना लें. अब इस चूर्ण को गुनगुने पानी में थोड़ी सी मिश्री के साथ मिलाकर पीएं. इससे जुकाम ठीक होने लगेगा.

घावों को करे ठीक पीपल से (Ficus religiosa for Wounds) –

चोट आदि के घावों को ठीक करने में भी फायदेमंद है पीपल. चोट के घाव को भरने के लिए थोड़े पीपल के पत्तो को गर्म करें. अब इन पत्तो को घाव वाले स्थान पर लगाए. इससे घाव जल्दी भरने लगेंगे.

दिलाए फटी एड़ियों से निजात दिलाये पीपल (Ficus religiosa for cracked heels) –

फटी एड़ियों को ठीक करने के भी आप पीपल की मदद लें सकते हैं. इसके प्रयोग के लिए आप पीपल के पत्तों से निकलने वाले दूध को फटी एड़ियों पर लगाए. इससे कुछ ही दिनों में फटी एड़िया कोमल होने लगेंगी.

Advertisements

 

अंडे के लाभ, अनमोल गुण और अचूक फायदे Amazing benefits of Eggs

अंडे का उपयोग, बेजोड़ फायदे और इसके शारीरिक लाभ Health benefits of eggs

अंडा हमारी सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. रोजाना अंडे के सेवन से हम अपने शरीर को अनेक रोगों से दूर रख सकते हैं. अंडे में लुटिन होता है जो हमारी त्वचा को लोचदार और नम बनाने में काफी मदद करता है. अंडे में पाए जाने वाले प्रोटीन बालों में सुधार और चमक के साथ शक्ति प्रदान करने में सहायक होते हैं.

Advertisements

 

इसके अलावा अंडे से हमारे नाखून और बालों को भी उचित मात्रा में प्रोटीन मिलता है. रोज अंडे खाना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता है.

अंडे में प्रोटीन, कैल्शियम व ओमेगा-3 फैटी एसिड उचित मात्रा में पाया जाता है. जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होते हैं. इसमें मौजूद प्रोटीन हमारे मांसपेशियों के लिए बहुत ही लाभदायक होता है तथा उन्हें मजबूत बनाने में काफी सहायक होता है तथा कैल्शियम हमारी हड्डियों और दांतों के लिए बहुत ही लाभदायक होता है इसके अलावा इसमें मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड की मदद से हमारे शरीर में कोलेस्ट्राल यानि एचडीएल का निर्माण होता है. इसलिए रोजाना अंडे का सेवन करें क्योंकि यह हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में काफी सहायक होता है.

Advertisements

 

अंडे के लाभदायक गुण 

स्टैमिना बढ़ाने के लिए अंडे का प्रयोग (Egg for Increase stamina) – अंडा हमारे शरीर के लिए बहुत ही अच्छा होता है. से शरीर को एमिनो एसिड मिलता है जिससे शरीर का स्टैमिना बढ़ने लगता है.

आँखों की रौशनी बढ़ाने के लिए लाभदायक अंडा (Egg for improve eye sight) – रोजाना अंडे के सेवन से आँखों की रौशनी बढ़ाई जा सकती है क्योंकि अंडे में विटामिन ए पाया जाता है जो हमारी आँखों को स्वस्थ रखने के लिए बहुत ही जरुरी होता है. इसके अलावा अंडे के सेवन से हमारे बाल भी मजबूत तथा घने होते हैं.

स्मरण शक्ति बढ़ाने में मददगार अंडा (Egg for Increase Memory) – अंडा हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के साथ-साथ हमारे दिमाग का विकास करने में भी फायदेमंद  विटामिन बी 12  पाया जाता है जो हमारे दिमाग का विकास करके स्मरण शक्ति बढ़ाने में है.

Advertisements

 

शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक अंडा (Egg for improve Immunity) – शरीर को रोगों से दूर रखने के लिए तथा शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए भी अंडा फायदेमंद होता है. अंडे की जर्दी में विटामिन डी पाया जाता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक हैं साथ ही शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में हमारी मदद करता है.

गर्भवती महिलाओं के लिए लाभदायक अंडा (Egg beneficial for pregnant women) – गर्भवती महिलाओं के लिए अंडा लाभदायक होता है. अंडे में प्रोटीन के साथ- साथ कई अन्य पोष्टिक तत्व पाए जाते हैं जिनसे गर्भवती महिलाओं को लाभ होता है और बच्चा स्वस्थ रहता है. इसलिए गर्भवती महिलाओं के भोजन में अंडा को अवश्य शामिल करें.

मिनिरल्स की कमी को दूर करने में सहायक अंडा (Egg for increase Minerals) – अंडे में आयरन, जिंक और फास्फोरस की उचित मात्रा पाई जाती है. जो हमारे शरीर के आवश्यक होते हैं. रोजाना अंडा  खाने से शरीर में मिनिरल्स की कमी नही होती और शरीर स्वस्थ रहता है.

Advertisements

 

वजन कम करने के लिए अंडा (Egg for weight loss)- कई लोग होते हैं जिन्हे अंडा खाना काफी पसंद होता है. पर लोग ये सोच कर अंडा नहीं खाते की उनका वजन बढ़ जाएगा. मगर वजन कम करने के लिए आप अंडे सफेद वाला हिस्सा खा सकते हैं. इसमें फैट नहीं होता.

बालों  के लिए लाभदायक अंडा (Egg for hair)- अंडा ना केवल हमारे शरीर बल्कि हमारे बालों की देखभाल करने में भी सहायक है. इसका प्रयोग करने के लिए आप अंडे की जर्दी को ऑलिव ऑयल, नींबू का रस या एवोकेडो मिलाकर हेयर मास्क और कंडीशनर तैयार कर सकते हैं. इसके बाद इसे अपने बालों में बालों में होने वाली अनेक समस्याओं को समाप्त किया जा सकता है.

Advertisements

 

गुणकारी केसर के अनोखे लाभ तथा बेजोड़ फायदे Health benefits with Saffron

केसर के लाभ, विशेषता और चमत्कारिक गुण Health benefits of saffron

%e0%a4%95%e0%a5%87%e0%a4%b8%e0%a4%b0-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%b2%e0%a4%be%e0%a4%ad-%e0%a4%b5%e0%a4%bf%e0%a4%b6%e0%a5%87%e0%a4%b7%e0%a4%a4%e0%a4%be-%e0%a4%94%e0%a4%b0-%e0%a4%9a%e0%a4%ae%e0%a4%a4केसर एक सुगंध देने वाला पौधा है. जिसका प्रयोग भारतीय रसोई घर में अधिक किया जाता है. केसर का प्रयोग घरो में खाद्य पदार्थों की सुगंध और स्‍वाद को बढ़ाने के लिए किया जाता है. केसर को खीर, बिरयानी, मिठाई और दूध आदि में प्रयोग में लाया जाता है.

Advertisements

 

हमारी प्रकृति में अनेक ऐसी जड़ी-बूटियां पायी जाती है जिनका प्रयोग वर्षो से शरीर को स्वस्थ रखने एवम उत्तम स्वास्थ के लिए प्रयोग में लाया जाता है. केसर को सैफ्रोन भी कहा जाता है. केसर में अनेक प्रकार के औषधीय गुण पाये जाते हैं जिनसे हमारा शरीर स्वस्थ बना रहता है.

शुद्ध केसर तेज लाल व नारंगी रंग के रेशों की तरह होते हैं. ये ‘क्रॉकस सेट्टिवम’ नामक पौधे के फूलों की नाजुक पंखुडिय़ां होती हैं. जिंस्की गन्ध बहुत ही अच्छी होती है. केसर को बहुत ही पवित्र तत्व माना जाता है. केसर एक पौराणिक और बहुत की कीमती खाद्य प्रदार्थ है. गर्म पानी में केसर डालने पर इसका रंग गहरा पीला हो जाता है. केसर प्रयोग, खाद्य, सौंदर्य आदि को निखारने के लिए किया जाता है. केसर दुनिया में बिकने वाले अनेक मसालों में सबसे महंगा मसाला है.

Advertisements

 

केसर के अनमोल गुण और लाभ 

उच्च रक्तचाप को ठीक करता है केसर (Saffron for high blood pressure problem) –

केसर में उच्च रक्तचाप को कम करने के अनेक गुण पाये जाते हैं. यह स्नायु तंत्रों में सकारात्मक बदलाव लाने में सहायक होता है. इसका कुछ मात्रा में रोजाना सेवन करें. इससे उच्च रक्तचाप की समस्या को आसानी से ठीक किया जा सकता है.

सिर दर्द से राहत दिलाता है केसर (Saffron for headache) –

सिर दर्द की समस्या को दूर करने के लिए केसर बहुत ही लाभदायक होता है. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़ा केसर में चंदन मिलाकर इसका पेस्ट तैयार कर लें. अब इस लेप को दर्द वाले स्थान पर लगाए. इससे सिर दर्द की समस्या कम होने लगेगी.

त्वचा का सांवलापन दूर करने के लिए केसर का प्रयोग (Saffron for glowing skin) –

गोरी तथा निखरी हुयी त्वचा किसे अच्छी नहीं लगती. त्वचा का सांवलापन दूर करने में केसर बहुत ही लाभदायक होती है. रोजाना दूध में थोड़ा केसर डाल कर पीए. इससे त्वचा का सांवलापन दूर होता है और त्वचा गोरी और चमकदार बनती है.

Advertisements

 

सर्दी और जुकाम की समस्या को दूर करने में सहायक है केसर (Saffron for cough and cold) –

सर्दी और जुकाम की परेशानी से राहत पाने के लिए भी केसर बहुत ही लाभदायक होता है. इसके लिए सुबह-शाम केसर का दूध पीए. इससे आराम मिलेगा.

गैस और एसिटिडी से राहत दिलाने फायदेमंद केसर (Saffron for acidity) –

गैस और एसिटिडी की परेशानी आजकल आम समस्या बन गई है. इस समस्या को दूर करने के रोजाना कुछ मात्रा में केसर का सेवन करें. इससे गैस और एसिटिडी की समस्या कम होने लगेगी.

अतिसार की समस्या को दूर करने के लिए केसर का प्रयोग (Saffron for Diarrhea) –

अतिसार की समस्या को दूर करने के लिए भी केसर का प्रयोग किया जाता है. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़ा केसर लें. अब इसमें थोड़ा जायफल, आम की गुठली, सोंठ को पत्थर पर पानी के साथ घिसकर इसका लेप बना लें. अब इस लेप का इस्तेमाल करें. इससे अतिसार की समस्या कम होने लगेगी.

Advertisements

 

त्वचा के जलने या चोट लगने पर केसर है फायदेमंद (Saffron for Skin burns or injury problem) –

त्वचा जलने या चोट लगने पर भी केसर का प्रयोग किया जाता है. इसका प्रयोग करने के लिए प्रभावित स्थान पर केसर का लेप लगाए. इससे घाव जल्दी भर जाता है और दर्द से राहत मिलती है.

शारीरिक शक्ति बढ़ाने में सहायक है केसर (Saffron for Increasing physical strength) –

अनेक लोग अपने कमजोर शरीर से काफी परेशान रहते हैं. शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए रोजाना गर्म दूध के साथ थोड़ा केसर लेने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है और शरीर स्वस्थ रहता है.

केसर से करें अनिद्रा की शिकायत को दूर (Saffron for Insomnia problem) –

अनिद्रा की परेशानी को दूर करने के लिए भी केसर काफी फायदेमंद होता है. रोजाना रात को सोने से पहले दूध में थोड़ा केसर डालकर पीए. इससे शरीर को आराम मिलता है तथा नीद अच्छी आती है.

Advertisements

 

जैतून के तेल के फायदे, गुण और स्वास्थवर्धक लाभ Olive oil health benefits, nutritional facts

जैतून के तेल के बेहतरीन लाभ और फायदे Benefits of olive oil

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जैतून का तेल बहुत ही अच्छा माना जाता है. जैतून के तेल को ऑलिव आयल भी कहा जाता है. यह तेल हमारे स्वास्थ के लिहाज से बहुत ही अच्छा तेल माना जाता है.

Advertisements

 

जैतून के तेल की मदद से हमारी त्वचा खूबसूरत बनती है साथ ही इसके उपयोग से हमारे बालों को भी काफी लाभ होता है. जैतून का तेल स्वास्थवर्धक तेल है इसके प्रयोग से शरीर में होने वाली कई बीमारियों को आसानी से ठीक किया जा सकता है. इस तेल का प्रयोग सौंदर्य प्रसाधनों के रूप में या अनेक दवाओं को बनाने के लिए किया जाता है. जैतून का तेल ना केवल हमारे खाने के स्वाद को बढ़ाता है बल्कि हमारे शरीर को भी स्वस्थ रखने में काफी सहायक होता है. जैतून का तेल हमे ना केवल बहरी तौर पर स्वस्थ रखता है बल्कि इस तेल की मदद से हमारा शरीर अंदरूनी तरीके से भी स्वस्थ रहता है. जैतून के तेल का प्रयोग आप रोजाना खाना बनाने आदि के लिए कर सकते हैं.

Advertisements

 

जैतून के तेल से स्वास्थ्य लाभ (Olive oil for health benefits)

ऑस्टियोपोरोसिस रोग के उपचार के लिए जैतुल के तेल का प्रयोग (Olive oil for osteoporosis problem) –

बढ़ती उम्र के साथ-साथ लोगो को अनेक समस्याओं हो जाती है. कई बार लोगो को ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या होने लगती है. इस बीमारी को ठीक करने के लिए जैतून का तेल लाभदायक होता है. रोजाना जैतून के तेल का सेवन करे इससे ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या कम होने लगेगी.

मधुमेह में लाभदायक जैतून का तेल (Olive oil for diabetes) –

मधुमेह की समस्या को ठीक करने के लिए भी जैतून का तेल फायदेमंद होता है. इसमें सैचुरेटेड फैट बहुत ही कम पाया जाता है. जैतून के तेल से शुगर कण्ट्रोल रहता है. रोजाना जैतून का तेल खाये. इससे डायबिटीस का खतरा कम होता है.

Advertisements

 

जैतून का तेल वजन घटाने में लाभकारी (Olive oil for weight loss) –

जैतून के तेल से ना केवल शरीर स्वस्थ रहता है बल्कि हमारे शरीर का मोटापा भी कम होता है. रोजाना खाने में जैतून के तेल का प्रयोग करे. इससे भूक कम लगती है और वजन कण्ट्रोल में रहता है.

हड्डियों की मजबूती के लिए जैतून के तेल का प्रयोग (Olive oil for strong bones) –

हड्डिया मजबूत रखने के लिए भी जैतून का तेल फायदेमंद होता है. यह तेल कैल्शियम को ओबजर्ब करने सहायक है. जिससे ओस्टोप्रोसिस बिमारी के होने की आशंका नही होती. इस बिमारी से हमारी हड्डिया कमजोर होने लगती हैं. इसलिए रोजाना जैतून के तेल का प्रयोग भोजन में करने से इस बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है.

Advertisements

 

जैतून के तेल से सौंदर्य लाभ (Olive oil for beauty)

सनबर्न की समस्या को दूर करने के लिए जैतून के तेल का प्रयोग (Olive oil for sunburn problem) –

अनेक बार सूरज की तेज रौशनी से हमारी स्किन झुलस जाती हैं और हमारी त्वचा की रंगत समाप्त हो जाती हैं. सनबर्न की समस्या को भी जैतून के तेल की मदद से आसानी से कम किया जा सकता है. रोजाना जैतून के तेल से अपने चेहरे की मसाज करें. इससे सनबर्न से झुलसी त्वचा ठीक होने लगेगी.

त्वचा में रंगत लाये जैतून का तेल (Olive oil for beautiful skin) –

जैतून का तेल हमारी स्किन के लिए बहुत ही अच्छा होता है. रोजाना चेहरे पर जैतून का तेल लगाने से चेहरे पर होने वाले कील-मुहासो की समस्या को आसानी से समाप्त किया जा सकता है. जैतून के तेल की मालिश से चेहरे का रुखपन भी समाप्त होता है और त्वचा में नमी बरकरार रहती है.

Advertisements

 

आँखों के नीचे काले घेरे को ठीक करने के लिए जैतून का तेल (Olive oil for Dark circles) –

कई बार अनेक कारणों के चलते हमारे आँखों के नीचे काले घेरे होने लगते हैं. काले घेरो की समस्या को समाप्त करने के लिए भी जैतून का तेल फायदेमंद होता है. इसका प्रयोग करने के लिए रोजाना रात को सोने से पहले आँखे के काले घेरे वाले स्थान पर हलके हाथो से मसाज करें. इससे काले घेरे कम होने लगेंगे.

बालों के लिए फायदेमंद जैतून का तेल (Olive oil for hair) –

जैतून के तेल में विटमिंस ए, बी, सी, डी और ई के साथ-साथ आयरन मौजूद होता है. जो हमारे बालों के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. बालों में जैतून की तेल की मालिश करने से हमारे बाल मजबूत, घने तथा लंबे होने लगते हैं.

Advertisements

 

अखरोट के गुण , इसका उपयोग और लाभकारी फायदे Walnuts nutrition facts and benefits’

अखरोट के फायदे, औषधीय गुण और अनमोल लाभ Top reasons to eat walnuts every day

अखरोट खाना अक्सर सभी लोगो को पसंद होता है. शायद की कोई व्यक्ति होगा जिसे अखरोट पसंद ना हो. अखरोट का सेवन करने से हमारे शरीर में होने वाली कई बीमारिया आसानी से समाप्त हो जाती हैं.

Advertisements

 

इसके रोजाना सेवन से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक-क्षमता बढ़ती है तथा शरीर स्वस्थ रहता है. अखरोट ऊर्जा का बेहतर स्रोत है. इसके सेवन से हमारे शरीर में आवश्यक पोषक तत्व पहुंच जाते हैं. इसमें मिनरल्स, एंटीआक्सीडैंट्स और विटामिन्स प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं.

अखरोट में मोनोसैचुरेटिड फैट्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. इसके अलावा इसमें ओमेगा-3 फैटी एसिड्स जैसे सिनोलिक एसिड, अल्फा फिनोलिक एसिड और एराकिडोनिक एसिड भी मौजूद होते हैं. अखरोट का रोजाना सेवन करने से हमारा शरीर अनेक रोगों से लड़ने में सक्षम हो जाता है. अखरोट हमारे शरीर की फिटनेस को बरकरार रख के हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में काफी सहायक होता है.

Advertisements

 

अखरोट के फायदेमंद गुण

तनाव कम करने के लिए अखरोट का प्रयोग (Walnuts for Strain) – आजकल की जीवनशैली में तनाव काफी बढ़ गया है. तनाव की समस्या आजकल लगभग सभी जगह देखने को मिल ही जाती है. इस परेशानी को दूर करने के लिए अखरोट लाभदायक होता है. फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट्स और असंतृप्त फैटी एसिड और ओमेगा थ्री फैटी एसिड मौजूद होते हैं जो तनाव को कम करने में सहायक होते हैं. इसलिए रोजाना अखरोट का सेवन करें जिससे तनाव कम होने लगेगा.

त्वचा को खूबसूरत बनने के लिए अखरोट का प्रयोग (Walnuts for glowing skin) – अखरोट ना केवल हमे रोगों से बचाता है बल्कि इसके प्रयोग से हमारी त्वचा भी खूबसूरत बनती है. इसके सेवन से हमारी त्वचा फ्री-रेडिकल्स से बची रहती है. इसलिए रोजाना अखरोट का सेवन करें. इससे त्वचा की चमक बरकरार रहती है.

Advertisements

 

डाइबिटीज़ की समस्या को दूर करने के लिए अखरोट का उपयोग (Walnuts for Diabetes) – डाइबिटीज़ की समस्या से निपटने के लिए भी अखरोट लाभदायक होता है. रोजाना कुछ मात्रा में अखरोट का सेवन करें इससे आसानी से डाइबिटीज़ की समस्या को कम किया जा सकता है.

मोटापा कम करने में सहायक अखरोट (Walnuts for weight loss) – अखरोट शरीर को स्वस्थ रखने के साथ-साथ मोटापा कम करने में भी सहायक होता है. इसलिए रोजाना अखरोट का सेवन करें. इससे मोटापे को काफी हद तक कम किया जा सकता है.

Advertisements

 

अच्छी नीद के लिए लाभदायक है अखरोट (Walnuts for Good sleep) – अखरोट अन्य रोगों को ठीक करने के साथ-साथ अच्छी नीद के लिए भी फायदेमंद होता है. रोजाना अखरोट के सेवन से शरीर को रिलैक्स मिलता है जिससे रात को अच्छी नीद आती है.

दिमाग को तेज करने में सहायक अखरोट (Walnuts for Sharp mind) – अखरोट को ब्रेन फूड के नाम से भी जाना जाता है, क्योंकि इसके सेवन से दिमाग का विकास होता है. इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन ई पाया जाता है जो दिमाग को तेज करने में सहायक होता है. इसलिए रोजाना अखरोट का सेवन लाभदायक होता है.

सफ़ेद दाग कम करने के लिए अखरोट का प्रयोग (Walnuts for White stain) – सफ़ेद दागो की समस्या को कम करने के लिए भी अखरोट प्रयोग में लाया जाने वाला पोष्टिक तत्व है. सफ़ेद दाग की समस्या को दूर करने के लिए रोजाना 4 या 5 अखरोट खाये. कुछ महीने इन्हे खाये. सफेद दाग कम होने लगेंगे.

Advertisements

 

बादाम के चमत्कारी गुण, अनमोल फायदे और अचूक स्वास्थ लाभ Almonds nutrition and health benefit

बादाम के गुण फायदे और स्वास्थवर्धक लाभ Almonds health benefits, facts

बादाम एक लाभकारी गुणों से भरपूर ड्राई फ्रूट है. बादाम को अलमॉन्ड भी कहा जाता है. बादाम को सबसे अधिक याद्दाश्‍त को बढ़ाने के लिए प्रयोग में लाया जाता है. बादाम आवश्‍यक विटामिन और मिनरल जैसे विटामिन ई, जिंक, कैल्शियम, मैग्नीशियम और ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर होता है.

Advertisements

 

सूखे मेवों में बादाम को सबसे महत्पूर्ण स्थान दिया गया है, क्योंकि इसमें अनेक पोष्टिक तत्व पाये जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए लाभदायक होते हैं.

बादाम के रोजाना सेवन से मोटापा, कोलेस्ट्राल, हाई ब्लडप्रेशर और असामान्य ब्लड शूगर पर काबू करने में काफी मदद मिलती है. इसके सेवन से अन्य कई तरह की बीमारियों को भी ठीक किया जा सकता है. बादाम एक बहुत ही शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट एजेंट हैं, जो एलडीएल कोलेस्‍ट्रॉल के ऑक्‍सीकरण को रोकने में मदद करता है जिसके सेवन से अनेक रोगों को आसानी से दूर किया जा सकता है.

Advertisements

 

बादाम के अनमोल लाभ 

थकान भगाए बादाम से (Almond for weariness problem) – बादाम का सेवन हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. घंटो काम आदि करने से शरीर में थकावट होने लगती है. थकान को दूर करने के लिए रोजाना बादाम खाये. इससे थकान नही लगती है और शरीर में ऊर्जा आती है.

कब्ज से राहत दिलाये बादाम (Almond for Constipation) – बादाम ना केवल हमारी रंगत निखरता है बल्कि कब्ज जैसी समस्या को ठीक करने में भी सहायक है. रोजाना बादाम के तेल का सेवन करें. इससे कब्ज आदि की समस्या को आसानी से कम किया जा सकता है.

Advertisements

 

मधुमेह में फायदेमंद है बादाम (Almond for diabetes) – मधुमेह यानि डाइबिटीज़ के रोगियों के लिए भी बादाम फायदेमंद होता है. इससे शुगर लेवल कंट्रोल रहता है. इसलिए रोजाना पांच बादाम खाये. इससे मधुमेह की समस्या को आसानी से कम किया जा सकता है.

गर्भावस्था में फायदेमंद है बादाम (Almond is beneficial in pregnancy) – गर्भवती महिलाओं के लिए भी बादाम बहुत ही लाभदायक होता है. बादाम में फोलिक एसिड पाया जाता है जो बच्चे के शरीर में रक्त की कमी नहीं होने देता. इसलिए गर्भवती महिलाओं को रोजाना बादाम का सेवन करना चाहिए.

Advertisements

 

त्वचा के लिए लाभदायक बादाम (Almond for healthy skin) – बादाम हमारे सौंदर्य को बढ़ाने में काफी मददगार है. इससे त्वचा में नमी बनी रहती है. रोजाना बादाम तेल से त्वचा की मालिश करें. इससे त्वचा में कसाव आती है त्वचा कोमल तथा मुलायम बनी रहती है.  

बालों की समस्या को दूर करने में सहायक बादाम (Almond for hair) – आजकल हर कोई बाल झड़ने की समस्या को लेकर काफी परेशान रहता है. इस परेशानी को दूर करने के लिए रोजाना मुट्ठी भर बादाम खाये या बादाम के तेल को बालों में लगाए. इससे बालों का झड़ना कम होगा और बाल घने तथा मजबूत बनेगे.

Advertisements

 

आँखों के लिए लाभदायक है बादाम (Almond for beautiful eyes) – रोजाना बादाम खाने से ना केवल शरीर स्वस्थ रहता है बल्कि हमारी आँखे भी सुरक्षित रहती है. इसलिए रोजाना कुछ मात्रा में बादाम खाये. इससे आँखों की रौशनी भी बढ़ती है.

याददाश्त बढ़ाने के लिए बादाम का प्रयोग (Almond for increasing memory) – बादाम याददाश्त बढ़ाने का एक अच्छा उपाय है. रोजाना रात को पांच या छः बादाम भिगोकर रख दे. अब इन्हे सुबह उठकर खाये. इससे याददाश्त तो बढ़ती ही साथ ही शारीरिक कमजोरी भी दूर होती है.

Advertisements