Category Archives: घरेलू जड़ी बूटियाँ

ब्राह्मी के उपयोग और इसके स्वास्थवर्धक फायदे Uses of brahmi for health

ब्राम्ही के अनोखे गुण, फायदे और स्वास्थ लाभ Top benefits of brahmi

प्राचीन समय से ही ब्राम्ही को एक अच्छी औषधि के रूप में जाना जाता है. यह सफ़ेद तथा हरे रंग की होती है तथा इसका स्वाद फीका होता है. यह शरीर को ठंडक देने वाली औषधि के रूप में जाती जाती है. ब्राह्मी का वैज्ञानिक नाम बाकोपा मोनिएरी है. इसका प्रयोग सदियों से आवश्यक जड़ी- बूटी के रूप में किया जा रहा है. ब्राह्मी में  हायड्रोकोटिलिन, एशियाटिकोसाइड, एल्केलाइड, सेपोनिन व अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं जिससे दिमाग का विकास होता है साथ ही स्मरण शक्ति भी बढ़ती है.

Advertisements

 

इसके अलावा इसके प्रयोग से अन्य स्वास्थ से सम्बन्धित कई समस्या को आसानी से ठीक किया जा सकता है. आयुर्वेद की दृष्टि से ब्राह्मी बहुत ही महत्त्वपूर्ण औषधि मानी गई है. जिसका उपयोग कई लोग सदियों से करते हुए आ रहे हैं. आमतौर पर ब्राम्ही का पौधा ठंडे स्थानों पर पाया जाता है. भारत में इसकी उपज अत्यधिक की जाती है. ब्राम्ही अनेक रोगों के निदान के साथ-साथ उम्र बढ़ाने में भी सहायक होती है.

Advertisements

 

ब्राम्ही के अनोखे फायदे 

कब्ज को दूर करने में सहायक है ब्राह्मी (Brahmi for Constipation) –

ब्राह्मी कब्ज की समस्या को दूर करने का रामबाण इलाज है. कब्ज की समस्या होने पर ब्राह्मी का सेवन करें. इससे कब्ज तो ठीक होता ही है साथ ही पेट से संबंधित अन्य समस्याएं भी समाप्त हो जाती हैं.

एकाग्रता बढ़ाए ब्राह्मी से (Brahmi for Increased concentration) –

एकाग्रता बढ़ाने के लिए भी ब्राह्मी बहुत अच्छी मानी जाती है. इसका प्रयोग करने के लिए ब्राह्मी के चूर्ण को दूध के साथ सेवन करें. इससे एकाग्रता को आसानी से बढ़ाया जा सकता है.

Advertisements

 

त्वचा के रंग को निखारती है ब्राह्मी (Brahmi for beautiful skin) –

ब्राह्मी ना केवल हमारे शरीर के लिए लाभदायक है बल्कि इसके सेवन से त्वचा की रंगत भी निखरती है. इसके सेवन से शरीर में होने वाले विशैले पदार्थ बहार निकल जाते हैं. जिससे नए सेल्स बनते हैं और त्वचा में निखर आता है.

ब्राह्मी से खांसी और बुखार दूर करें (Brahmi for fever and cough) –

ब्राह्मी खासी और बुखार की समस्या को दूर करने में भी सहायक है. इसके प्रयोग करने के लिए थोड़ा ब्राह्मी का चूर्ण लें. अब इसमें समान मात्रा में शंखपुष्पी, बादाम, छोटी या सफ़ेद इलायची को पानी में डालकर छान लें. अब इस पानी को पी लें. इससे खासी और बुखार की समस्या कम होने लगेगी.

Advertisements

 

अनिद्रा की समस्या को दूर करने के लिए ब्राम्ही का उपयोग ((Brahmi for Insomnia) –

अनेक लोगो को नीद ना आने की समस्या होती है. इस समस्या को ठीक करने के लिए ब्राह्मी का प्रयोग भी किया जाता है. इसका प्रयोग करने के लिए रोजाना रात को सोने से पहले ब्राह्मी के एक चम्मच चूर्ण को एक ग्लास दूध में डालकर पीये. इससे अनिद्रा की समस्या ठीक होने लगती है.

दांत दर्द में लाभदायक ब्राह्मी ((Brahmi for Tooth Ache) –

ब्राह्मी का उपयोग दांत दर्द में भी लाभदायक होता है. इसके उपयोग के लिए आधा ग्लास पानी लें. अब इसमें आधा चम्मच ब्राह्मी चूर्ण डालकर गर्म करें. अब इस पानी से रोजाना दिन में दो बार कुल्ला करें. इससे दांत दर्द कम होने लगेगा.

Advertisements

 

फूल गोभी के अनमोल शारीरिक लाभ और अनोखे गुण Cauliflower nutrition facts plus benefits

फूल गोभी के स्वास्थ लाभ और सौन्दर्य गुण तथा फायदे Cauliflower uses and benefits

पत्ता गोभी के साथ-साथ फूल गोभी भी हमारे स्वास्थ के लिए लाभदायक मानी जाती हैं. इसमें प्रोटीन, फॉस्फोरस, लौह तत्व, पोटैशियम, गंधक, नियासीन और विटामिन `सी´ आदि तत्व पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं. फूल गोभी में गंधक एवं क्लोरीन घटकों की अधिक मात्रा पायी जाती है जिसके कारण यह शरीर में होने वाली गन्दगी को साफ करने में सहायक होती है. फूलगोभी में सलफोराफीन नमक तत्व पाया जाता है जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है.

Advertisements

 

आमतौर पर फूल गोभी का प्रयोग भारत में सब्जी, पराठा, भरवाँ, दुलमा, अचार के रूप में किया जाता है. गोभी एक ऐसी सब्जी से जो आसानी से प्राप्त हो जाती है तथा इसमें अनेक प्रकार के फायदेमंद तत्व पाये जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक होते हैं. इसके अलावा फूल गोभी में टारट्रोनिक नामक एसिड पाया जाता है जो हमारे शरीर से अनचाही चरबी, शर्करा एवं अन्य पदार्थों को इकट्ठा होने से रोकता है. इसलिए फूल गोभी का सेवन अधिक किया जाता है और यह सब्जी अनेक लोगो की पसंदीदा सब्जी भी होती है.

Advertisements

 

फूल गोभी के अनमोल लाभ और फायदे 

मोटापा कम करने में सहायक फूल गोभी (Cauliflower for Weight Loss) –

फूल गोभी के सेवन से मोटापे को कण्ट्रोल में किया जा सकता है. फूल गोभी का सेवन सब्जी या सलाद के रूप में करें. इससे मोटापे को कण्ट्रोल किया जा सकता है.

गर्भावस्था के दौरान फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower in Pregnancy) –

फूल गोभी में फाइबर के साथ विभिन्न आवश्यक विटामिन और खनिज पाये जाते हैं. जो गर्भावस्था के दौरान बहुत ही लाभदायक होते हैं. इसलिए फूल गोभी को अपने आहार में शामिल करें. इससे गर्भावस्था के दौरान किसी प्रकार की समस्या नही होती.

Advertisements

 

स्वस्थ हड्डियों के लिए फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower for Healthy Bones) –

फूलगोभी में विटामिन सी पाया जाता है जो कॉलेजन के उत्पादन में हमारी मदद करता है. इसके अलावा इसमें विटामिन के पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाये रखने में सहायक होती है.

पेट की समस्याएँ समाप्त करने में सहायक फूल गोभी (Cauliflower for Stomach Problems) –

फूलगोभी में डाइटरी फाइबर पाया जाता है. जो पाचन तंत्र को उचित रखने में सहायक होता है. इसके सेवन से शरीर से विषैले पदार्थ समाप्त हो जाते हैं और पेट से जुड़ी अनेक समस्याएं दूर होने लगती हैं.

Advertisements

 

कब्ज की समस्या दूर करने के लिए फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower for Constipation –

फूल गोभी का प्रयोग कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए भी किया जाता है. इसका प्रयोग करने के लिए रात को सोते समय आधा गिलास गोभी का रस पीये. इससे कब्ज की समस्या को आसानी से समाप्त किया जा सकता है.

तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने के लिए फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower for Cellular Health) –

फूलगोभी में कॉलीन और फॉस्फोरस पाया जाता है जो तंत्रिका तंत्र को स्वस्थ रखने में काफी सहायक होता है. फूल गोभी के सेवन से तंत्रिका तंत्र को आसानी से स्वस्थ बनाया जा सकता है.

Advertisements

 

अल्सर की समस्या को दूर करने के लिए फूल गोभी (Cauliflower Beneficial for Ulcer Patients ) –

पेट में अल्सर की समस्या को ठीक करने के लिए फूलगोभी लाभदायक होती है. इसका प्रयोग करने के लिए सामान्य भोजन करने के बाद एक ग्लास गोभी का रस पीये. दिन में चार या पांच बार गोभी का जूस पीये. इससे अलसर की समस्या को आसानी से समाप्त किया जा सकता है.

मसूड़ों को स्वस्थ रखने के लिए फूल गोभी का प्रयोग (Cauliflower for Strong Jaw) –

फूल गोभी से शरीर तो स्वस्थ रहता ही है साथ ही मसूड़े भी स्वस्थ रहते हैं. रोजाना फुल गोभी के पत्तों को चबा-चबाकर खाये. इससे मसूड़ों को ताकत मिलती है और सदैव स्वस्थ रहते हैं.

Advertisements

 

पत्ता या बंद गोभी के गुण, बेहतरीन फायदे और चमत्कारी लाभ What are the health benefits of cabbage

पत्ता गोभी के स्वास्थ लाभ इसके गुण और अनोखे फायदे Health benefits of cabbage

पत्ता गोभी हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही फायदेमंद सब्जी है. पत्ता गोभी को कई जगहों में बंद गोभी के नाम से भी जाना जाता है. पत्ता गोभी में विटामिन ए की अच्छी मात्रा पायी जाती है. जो हमारी सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. पत्ता गोभी में विटामिन के साथ-साथ प्रोटीन और खनिज लवण भी भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं.

Advertisements

 

आमतौर पर पत्ता गोभी का प्रयोग सलाद तथा सब्जो दोनों ही रूपों में किया जाता है. पत्ता गोभी में अनेक ऐसे तत्व पाये जाते हैं. जिनकी मदद से हमारी त्वचा निखरती है साथ ही बालों के लिए भी यह बहुत लाभदायक होती है. इसके अलावा पत्ता गोभी का प्रयोग अनेक बीमारियों से लड़ने के लिए भी किया जाता है.

पत्ता गोभी के सेवन से शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी को भी आसानी से समाप्त किया जा सकता है. इसमें अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाये जाते हैं जिनकी मदद से हम अपने शरीर को आसानी से स्वस्थ रखने में सहायक हो सकते हैं. इसलिए पत्ता गोभी को सलाद के सब्जी के रूप में प्रयोग में लाया जा सकता है. अनेक लोगो को पत्ता गोभी खाना पसंद नही होता लेकिन स्वस्थ शरीर के लिए पत्ता गोभी बहुत ही लाभदायक एवम पौष्टिकता से भरपूर सब्जी मानी जाती है.

Advertisements

 

पत्ता गोभी के स्वास्थवर्धक लाभ 

पत्ता गोभी से दूर करें खून की कमी (Cabbage for anemia) –

पत्ता गोभी हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही लाभदायक होती है तथा इसके सेवन से खून की कमी को भी आसानी से समाप्त किया जा सकता है. इसमें लौह तत्व की अधिक मात्रा पायी जाती है. जिससे शरीर में खून की कमी नही होती. सप्ताह में चार बार पत्ता गोभी का सेवन अवश्य करना चाहिए.

हड्डियों और दांतों के लिए लाभदायक है पत्ता गोभी (Cabbage for strong bones and teeth) –

गोभी ना केवल शरीर के लिए लाभदायक है बल्कि इसके सेवन से हम अपनी हड्डियों और दांतों को भी मजबूत रख सकते हैं. इसमें फास्फोरस और कैल्शियम की भरपूर मात्रा पायी जाती जो हमारी हड्डियों और दांतों को मजबूत रखने में सहायक है. इसलिए पत्ता गोभी का सेवन करना चाहिए. इसके अलावा आप कच्ची गोभी भी खा सकते हैं इससे दांतों में पायरिया की समस्या नही होती.

Advertisements

 

बालों के लिए फायदेमंद पत्ता गोभी (Cabbage for hair) –

पत्ता गोभी के सेवन से हमारे बालों को बढ़ाने में भी मदद मिलती है तथा इससे बालों के झड़ने की समस्या को भी आसानी से कम किया जा सकता है. इसके लिए रोजाना पत्ता गोभो को सब्जी के रूप में या सलाद के रूप में प्रयोग में लाये. इससे बाल तेजी से बढ़ने लगेंगे.

डायबिटीज में लाभदायक पत्ता गोभी (Cabbage for diabetes) –

डायबिटीज यानि मधुमेह के रोगियों के लिए पत्ता गोभी बहुत फायदेमंद होती है. रोजाना सलाद के रूप में पत्ता गोभी का सेवन करने से डायबिटीज की बीमारी को काफी हद तक कम किया जा सकता है.

Advertisements

 

त्वचा के लिए फायदेमंद पत्ता गोभी (Cabbage for glowing skin) –

पत्ता गोभी में सल्फर और आयरन मौजूद होता है. जिससे हमारी त्वचा खूबसूरत बनती है. पत्ता गोभी को सब्जी, जूस या सलाद के रूप में लेने से त्वचा का निखर बढ़ता है और त्वचा में होने वाली अनेक समस्याओं को समाप्त किया जा सकता है.

पत्ता गोभी से घटाए वजन (Cabbage for weight loss) –

पत्ता गोभी में वसा और कैलोरी की मात्रा कम पायी जाती है जिससे वजन नही बढ़ता. यदि शरीर में अत्यधिक मोटापा हो गया है तो रोजाना अपने आहार में पत्ता गोभी को शामिल करें. इससे वजन आसानी से कम होने लगेगा.

Advertisements

 

मौसमी के सौन्दर्य तथा शारीरिक लाभ और अनमोल गुण Seasonal uses and health benefits

मौसमी के स्वास्थवर्धक फायदे इसका उपयोग और गुण Seasonal nutrition facts and benefits

बदलते मौसम के साथ ज्‍यादा संक्रमण फैलने की संभावना होती है. ऐसे में जरुरी है की हम कुछ आसान घरेलु जड़ी बूटियों की मदद से अपने शरीर को स्वस्थ रखे और उचित सेहत बनाए. हमारे घरों में अनेक ऐसी चीजे पायी जाती हैं.

Advertisements

 

जिनके सेवन से हम आसानी से अनेक परेशानियों को दूर करने में सहायक हैं. इनमे से एक है मौसमी. रोजाना मौसमी का सेवन कुछ मात्रा में करने से शरीर में होने वाले अनेक रोगी की रोकथाम की जा सकती है.

मौसमी में फ्लेवोनॉइड्स नामक तत्व पाया जाता है. जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है. साथ ही इसमें विटामिन सी की भरपूर मात्रा पायी जाती है जो हमारे शरीर को स्वस्थ रखने में लाभदायक होती है. मौसमी का खट्टा-मीठा स्वाद अनेक रोगों को ठीक करने में हमारी मदद करता है. मौसम बदलने के साथ-साथ अनेक बीमारिया होने लगती हैं. मौसमी के सेवन से ना केवल हमारा शरीर स्वस्थ रहता है बल्कि हमारी सुंदरता भी निखरती है. इसलिए रोजाना कुछ मात्रा में मौसमी के रस का सेवन करना लाभदायक माना जाता है.

Advertisements

 

मौसमी के चमत्कारी फायदे 

पीलिया के लिए लाभदायक मौसमी (Seasonal for jaundice) –

पीलिया से परेशान व्यक्ति को मौसमी का जूस पिलाना चाहिए. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़ा मौसमी का जूस लें. अब इसमें थोड़ा ग्लूकोज डालें. अब इस मिश्रण को पीलिया के रोगी को पिला दे. इससे लाभ होगा.

स्कर्वी रोग से बचाव करती है मौसमी (Seasonal for Scurvy) –

स्कर्वी रोग विटामिन सी की कमी से होने वाला रोग है. इस रोग की रोकथान के लिए मौसमी का सेवन लाभदायक होता है क्योंकि मौसमी में विटामिन सी की उचित मात्रा पायी जाती है जिसके कारण स्कर्वी रोग से छुटकारा पाया जा सकता है.

Advertisements

 

पाचन शक्ति बढ़ाता है मौसमी (Seasonal for increases digestive power) –

मौसमी रस यौगिकों में क्रमिक वृत्तों में सिकुड़ने वाली गति के लिए लाभदायक होती है. रोजाना मौसमी के रस का सेवन करने से पाचन शक्ति प्रबल होती है और खाना अच्छी तरह से पच जाता है.

कब्ज में लाभदायक मौसमी (Seasonal for Constipation) –

मौसमी के रस में पोटेशियम काफी मात्रा में मौजूद होता है. कब्ज आदि की समस्या को ठीक करने के लिए भी मौसमी फायदेमंद होती है. कब्ज की समस्या को ठीक करने के लिए कुछ मात्रा में मौसमी का रस पीए. इससे कब्ज की परेशानी कम होने लगेगी.

Advertisements

 

मौसमी से त्वचा लाभ (Seasonal for skin) –

मौसमी ना केवल हमारे स्वास्थ के लिए बल्कि हमारी त्वचा के लिए भी बहुत ही लाभदायक होती है. मौसमी का रस त्वचा से दाग-धब्बों को निकालने में सहायक होता है. रोजाना कुछ मात्रा में मौसमी का रस पीए. इससे त्वचा के दाग-धब्बे धीरे-धीरे कम होने लगेंगे.

मौसमी से मधुमेह में लाभ (Seasonal for diabetes)-

मौसमी के सेवन से मधुमेह यानि डाइबिटीज़ की समस्या को भी आसानी से ठीक किया जा सकता है. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़ा आंवला रस और शहद को मौसमी के रस के साथ मिलाकर सुबह खाली पेट कुछ मात्रा में लेने से मधुमेह की समस्या कम होने लगती है.

Advertisements

 

मौसमी अच्छी आँखों के लिए लाभदायक (Seasonal for beautiful eyes) –

मौसमी में एंटीऑक्सिडेंट और जीवाणुरोधी गुण पाए जाते हैं. जिससे आँखों की देखभाल में मदद मिलती है. सादे पानी में कुछ बुँदे मौसमी के रस की डालकर अपने आँखों को धोए. इससे आँखों के संक्रमण को आसानी से दूर किया जा सकता है.

मौसमी कम करती है कोलेस्ट्रॉल (Seasonal for Cholesterol problem) –

कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए भी मौसमी लाभदायक होती है. रोजाना मौसमी का जूस पीने से कोलेस्ट्रॉल की समस्या को आसानी से कम किया जा सकता है.

Advertisements

 

 

पीपल के औषधीय गुण और चमत्कारी उपाय Health benefits of ficus religiosa

पीपल के अनमोल लाभ, फायदे और चमत्कारी गुण Ficus religiosa benefits

पीपल एक ऐसा पेड़ है जिसको शास्त्रों के अनुसार बहुत ही शुद्ध माना जाता है. कहा जाता है की पीपल के पेड़ में देवी-देवताओ का वास होता है. भारतीय समाज में पीपल की पूजा करना शुभ माना जाता है.

Advertisements

 

इसके अलावा पीपल हमारे स्वास्थ को उत्तम रखने का भी बहुत अच्छा उपाय है. प्रकृति में हमारे उत्तम स्वास्थ के लिए अनेक जड़ी-बूटियां मिल जाती हैं. इन जड़ी-बूटियों के प्रयोग से हम सदैव स्वस्थ रह सकते हैं. पीपल का पेड़ हमारे स्वास्थ के लिए बहुत ही अच्छा है क्योंकि यह अत्यधिक आक्सीजन छोड़ने वाला पेड़ है.

घर के आस-पास इस पेड़ के होने से हमें सुद्ध आक्सीजन मिलती है तथा इसकी पत्तियो व् छाल को भी अनेक रोगों के उपचार के लिए प्रयोग में लाया जाता है. वनस्पतियों में एक पीपल का वृक्ष ही ऐसा वृक्ष है जो दिन और रात दोनों समय अर्थात् 24 घण्टे आॅक्सीजन प्रदान करता है. जिससे व्यक्ति अनेक समस्याओं से बच सकता है. पीपल का प्रयोग अन्य कई रोगी की रोकथाम के लिए भी किया जाता है.

Advertisements

 

पीपल के अनमोल लाभ 

दांतों के लिए फायदेमंद है पीपल (Ficus religiosa for strong teeth) –

दांतों से जुडी समस्याओं को ठीक करने के लिए पीपल बहुत ही लाभदायक है. इसका प्रयोग करने के लिए 2 ग्राम काली मिर्च, 10 ग्राम पीपल की छाल और कत्था लें. अब इसे बारीक़ पीस कर पाउडर बना लें. अब इस पाउडर से अपने दांतों को साफ करें. इससे दांतों से संबंधित परेशानियों जैसे दांतों की बदबू, दांतों का हिलना और मसूड़ों का दर्द व सड़न आदि समाप्त हो आएगी.

झुर्रियों से बचाएगा पीपल (Ficus religiosa wrinkles) – चे

चेहरे पर झुर्रिया होने के कारण चेहरा बहुत ही बूढ़ा सा लगने लगता है. झुर्रियों की समस्या को खत्म करने के लिए पीपल का प्रयोग लाभदायक होता है. इसका प्रयोग करने के लिए पीपल की जड़ो को काटे. अब इन जड़ो को अच्छी तरह धोकर पीस लें और इसका पेस्ट बना लें. अब इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाए. इससे चेहरे से झुर्रिया समाप्त होने लगेंगी.

Advertisements

 

दाद और खुजली को दूर करें पीपल से (Ficus religiosa for Ringworm and itching problem) –

दाद और खाज की समस्या को खत्म करने के लिए पीपल बहुत ही लाभदायक है. इसके प्रयोग के लिए पीपल के 4 पत्तों को चबाते रहें. इसके अलावा पीपल के पेड़ की छाल का काढ़ा बनकर पीए. इससे दाद और खुजली की समस्या को आसानी से कम किया जा सकता है.

पेट की तकलीफ को दूर करे पीपल (Ficus religiosa for stomach problem) –

पेट की अनेक समस्याएं जैसे कब्ज, गैस और पेट दर्द से राहत पाने क्ले लिए भी पीपल फायदेमंद होता है. इसके ताजे पत्तो को पीस कर इसका रस सुबह-शाम पीए. इससे लाभ होगा.

Advertisements

 

जुकाम से मुक्ति दिलाये पीपल (Ficus religiosa for common cold) –

जुकाम की समस्या को ठीक करने के लिए भी पीपल फायदेमंद होता है. इसका प्रयोग करने के लिए थोड़े पीपल के पत्ते लें. अब इन्हे छाया में सुखा लें. अब इन पत्तो को पीस कर चूर्ण बना लें. अब इस चूर्ण को गुनगुने पानी में थोड़ी सी मिश्री के साथ मिलाकर पीएं. इससे जुकाम ठीक होने लगेगा.

घावों को करे ठीक पीपल से (Ficus religiosa for Wounds) –

चोट आदि के घावों को ठीक करने में भी फायदेमंद है पीपल. चोट के घाव को भरने के लिए थोड़े पीपल के पत्तो को गर्म करें. अब इन पत्तो को घाव वाले स्थान पर लगाए. इससे घाव जल्दी भरने लगेंगे.

दिलाए फटी एड़ियों से निजात दिलाये पीपल (Ficus religiosa for cracked heels) –

फटी एड़ियों को ठीक करने के भी आप पीपल की मदद लें सकते हैं. इसके प्रयोग के लिए आप पीपल के पत्तों से निकलने वाले दूध को फटी एड़ियों पर लगाए. इससे कुछ ही दिनों में फटी एड़िया कोमल होने लगेंगी.

Advertisements