Category Archives: अनोखे घरेलू टिप्स

जाने रोने के 7 जबरदस्त फायदे 7 benefits of crying heath care tips

जाने कितना फायदेमंद है रोना 7 Health benefits of tears

दुख या परेशानी के समय में आंखों से आंसू आ ही जाते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि रोना भी सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है। इससे हम बहुत सी शारिरिक और मानसिक समस्याओं से बच सकते हैं।

Advertisements

 

जब हम टेंशन में होते हैं तो दुखी होने के कारण हमारी आंखों से आंसू निकलने लगते हैं। इस क्रिया से हमारा तनाव भी कम हो जाता है और हम हल्का महसूस करने लगते हैं। रोने के कई फायदे हैं, जो शायद हमें आजतक पता नहीं होंगे. आज यहाँ पर आपको बताएंगे रोने के कुछ फायदे.

आँखों में सुधार (For Improve eyes)-

आँसू आपकी दृष्टि में सुधार लाने में बहुत मदद करते हैं. कई बार आपकी आँखों की निर्जलीकृत झिल्ली के कारण, आप अपनी आँखों में थोड़ा सा धुंधलापन सा महसूस करते हैं. पर जब आप रोते हैं तब आपके आँसू आपकी आँख की झिल्ली को पानी से भर देते हैं और आपकी आँखों को सुधारने में मदद करते हैं.

Advertisements

 

आँखों को साफ़ करते हैं (Tears for clean eyes) –

शरीर के अन्य हिस्सों की तरह आपकी आँखों में भी बैक्टीरिया पाए जाते हैं| पर आँसुओं में स्वाभाविक जीवाणुरोधी गुण होता है. आँसुओं में ‘लाइसोजोम’ नामक द्रव्य होता है जो पाँच मिनट में आँख के 90 से 95 प्रतिशत बैक्टीरिया को ख़त्म कर सकता है.

तनाव से राहत दिलाते हैं आँसू (Tears relieve stress) –

जब आप परेशान या तनाव में होते हैं तब रासायनों का असंतुलन और कुछ रासायनों का निर्माण होता है, आँसू इन्हें कम करने में मदद करते हैं. भावनात्मक आँसू एड्रीनोकॉर्टिकोट्रॉपिक और ल्यूसीन एन्सीफेलीन जैसे हॉर्मोन्स भी मुक्त करते हैं जो तनाव से आपके शरीर को राहत देते हैं|

विषैले पदार्थों से मुक्ति (Liberation from toxic substances) –

यह पाया गया है कि सामान्य आँसुओं में 98 प्रतिशत पानी होता है पर भावनात्मक आँसुओं में तनाव के हॉर्मोन्स होते हैं जो आपके शरीर के द्वारा आपको तनाव से राहत देने के लिए मुक्त किये जाते हैं तथा साथ हि इन आँसुओं में कई विषाक्त पदार्थ होते हैं जो हमारे शरीर में भावनात्मक दबाव के कारण बन जाते हैं.

जलन से सुरक्षा दिलाते हैं (Tears protect against irritation) –

आपने कभी सोचा है कि प्याज काटते वक्त आपकी आँखों से पानी क्यों आने लगता है? ऐसा इसलिए होता है क्योंकि प्याज में कुछ एंजाइम होते हैं जो आँखों में जलन पैदा करते हैं. इसी तरह जब धूल के कण हमारी आँखों में, जाते हैं तो आँखों से पानी आने लगता है. इस तरह का रोना आपकी आँखों को सुरक्षा देता है और यह सुनिश्चित करता है कि कण आँसुओं के साथ आँख से बाहर निकल जाएँ.

Advertisements

 

सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए (For complete good health) –

भावनात्मक कारणों से निकलने वाले आँसुओं में 24 प्रतिशत उच्च एल्ब्यूमिन प्रोटीन होता है जो शरीर की चयापचय प्रणाली को नियंत्रित करने में मदद करता है. रुदन उच्च रक्तचाप, मोटापा, मधुमेह जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद करता है जो ज्यादा तनाव के कारण होती हैं|

शान्ति महसूस करने के लिए (For feel the peace) –

हो सकता है कि आप बहुत सारी परेशानियों से गुज़र रहे हों, रोने से आपको राहत महसूस होती है. आपके आँसू बहा लेने के बाद, आपका मस्तिष्क, हृदय और लिम्बिक सिस्टम बेहतर कार्य करना शुरू करता है और आपको बहुत राहत महसूस होती है, आपका मन हल्का हो जाता है और आपको अच्छा फील होता है.

Advertisements

 

ग्रीन टी पीने का सही समय और तरीका Benefits of Green Tea Fast Weight Loss Health Care Tips

ग्रीन टी पीने का सही समय और तरीका Right way to drink green tea for weight loss

आजकल हर कोई व्यक्ति खुद को फ़ीट रखने की कोशिश करते हैं. अगर आप भी फिटनेस के बारे में सोच रहे है तो फ़ीट रहने के लिए आप ग्रीन टी जरूर पीते होंगे. वेट लॉस करने वालो के लिए ग्रीन टी उनका पसंदीदा पेय है.

Advertisements

 

इसके अलावा सुंदरता बनाये रखने के लिए  मेटाबॉलिज्म बूस्ट करने और लंबे समय तक एक्टिव रहने के लिए ग्रीन टी पीना काफी फायदेमंद है. ग्रीन टी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती है लेकिन दोस्तों इसका मतलब यह मतलब नहीं कि आप एक के बाद एक कप ग्रीन टी पीते जाये. आमतौर पर लोग ऐसी ही गलती करते हैं. क्या आपको मालूम है कि ग्रीन टी पीने का भी एक सही समय  तय होना चाहिए, वरना ये नुकसानदेह भी हो सकता है.

Advertisements

 

ग्रीन टी में कैफीन और टेनिन्स पाए जाते हैं, जो गैस्ट्रिक जूस को डाइल्यूट करके पेट को नुकसान पहुंचा सकते हैं.  ग्रीन टी का अत्यधिक सेवन करने से भी आपको चक्कर आने, उल्टी आने और गैस होने जैसी समस्याओ का सामना करना पड़ सकता है.

ग्रीन टी पीने का सही समय और तरीका –

ग्रीन टी खाली पेट पीयें – कई लोग मानते है कि खाली पेट ग्रीन टी पीने से हमारा शरीर अंदर से स्वच्छ होता है। लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है. खली पेट ग्रीन टी पीना नुकसान दायक हो सकता है. क्योकि ग्रीन टी में कैफीन होता है जो गैस्ट्रिक जूस को पतला कर पेट और प्लीहा को प्रभावित करता है। इसलिए ध्यान रखे कि खली पेट कभी भी ग्रीन टिया ना पीये.

ग्रीन टी पीने का सही समय – ग्रीन टी हमेशा खाना खाने के आधा घंटा पहले या खाना खाने के 1 से 2 घंटे बादपीयें। इससे आपको जल्द ही अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे.

Advertisements

 

दूध और शक्कर वाली ग्रीन टी पीये – ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंटस और थियानाइन मौजूद होते है जो स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते है। लेकिन जब दूध में उपस्थित प्रोटीन और शुगर में उपस्थित कैलोरीज़ ग्रीन टी में मौजूद फ़्लवोनोइडस से मिल जाते है तो हमारे शरीर में नकारात्मक प्रतिक्रिया शुरू हो जाती है जिससे शरीर को ग्रीन टी से मिलने वाले लाभ नहीं मिल पाते। 

ग्रीन टी को शहद के साथ पीयें – शहद कैलोरीज़ कम करने में मदद करता है तथा ग्रीन टी चयापचय की दर को बढ़ाती है। ग्रीन टी में मौजूद कैफीन और शहद में मौजूद विटामिन्स नयूरोंस को पुनर्जीवित करते हैं तथा शरीर में उपस्थित फैट को बर्न करते हैं।

खाना खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीयें – ग्रीन टी में उपस्थित कैफीन पाचन को प्रभावित करता है तथा पोषक तत्वों को शरीर में अवशोषित होने से रोकता है। इसलिए ध्यान रखे कि खाना खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी न पीयें।

Advertisements

 

एक दिन में 2-3 कप ग्रीन टी का सेवन – दिन में सिर्फ 2 से 3 कप ही ग्रीन टी पीनी चाहिए. ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंटस और फ़्लवोनोइडस प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। ग्रीन टी का सेवन अधिक मात्रा में नहीं करना चाहिए क्योंकि इसका सेवन अधिक करने से शरीर में विषारी पदार्थों की मात्रा बढ़ जाती है और साथ ही, आपका लीवर भी प्रभावित हो सकता है। इसलिए एक दिन में 3 कप से ज्यादा ग्रीन टी ना पीये.  

Advertisements

 

जाने रात को पानी पिने के फायदे drinking water at night heath care tips

क्यों पीते हैं रात को सोने से पहले पानी why drink water in night health and care

पानी हमारे जीवन के लिये सबसे जरुरी माना जाता है। एक इंसान 40 दिनों तक बिना खाने के तो रह सकता है लेकिन बिना पानी के वह दो दिन भी नहीं रह सकता। पानी पीना हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत जरुरी होता है और साथ ही हमारी ब्यूटी के लिए भी,

Advertisements

 

इसलिये आज हम आपको बताएंगे कि सोने से पहले पानी पिने के जबरदस्त फायदे.

शरीर को रखे तरोताजा (Water for to keep body fresh) –

दिन में हमारा शरीर एक्‍टिव होने की वजह से पानी लॉस करता रहता है। इसलिये रात को सोने से पहले पानी पीने से खोया हुआ तरल पदार्थ वापस आ जाता है। रात को सोने से पहले पानी पिने से हमारी बॉडी दूसरे दिन फिर से एक्‍टिव हो जाती है और हम अपने सभी काम पूरी एनर्जी के साथ करते हैं।

चर्बी घटाए (Water for weight loss) –

पानी, शरीर की कैलोरीज़ को प्राकृतिक तरीके से कम करने में मददगार होता है। यदि ठंडा पानी पिएंगे तो आपकी बॉडी को उसे बर्न करने में कठिनाई आएगी जिससे शरीर से ज्‍यादा मात्रा में कैलोरीज बर्न होंगी।

Advertisements

 

अच्छी नींद आने में सहायक (Water for good sleep) –

सही मात्रा में पानी पीने से शरीर में विटामिन्‍स और मिनरल्‍स दोंनो ही बैलेंस होते हैं। सोने से पहले पानी पीने से हार्मोन और एनर्जी लेवल दोंनो ही बैलेंस होते हैं और साथ ही मासपेशियां और जोड़ों को भी आराम मिलता है। तो इससे आपके शरीर की थकान मिटती है और अच्छी नींद भी आती है.

स्ट्रेस से शांति दिलाए (Water for get rid of stress) –

रात को जो लोग सोने से पहले पानी पीते हैं उन्हें तनाव बहुत काम होता है जिस वजह से उन्हें नींद भी बहुत अच्छी आती है.

शरीर की गंदगी निकाले बहार (Drink water for good health) –

पानी शरीर की गंदगी को बहार निकालता है, जिससे बॉडी हमेशा स्‍वस्‍थ रहती है और अपना काम ठीक तरह से करती है। इससे आपकी स्‍किन भी साफ और ग्‍लो करती है और साथ ही पेट भी हमेशा साफ रहता है।

मांसपेशियों की मजबूती के लिए (Drink water for muscle strength) –

आयुर्वेद के अनुसार जब हम रात को सोने से पहले पानी पीते हैं तो इससे हमारे शरीर के अंदर नई कोशिकाओं का निमार्ण होता है जो मांसपेशियों को मजबूत बनाती है, और आपके मांसपेशियों में कभी दर्द नहीं होता है.

Advertisements

 

पपीता खाने के जबरदस्त फायदे Benefits of papaya Home Remedies Health Care Tips

पपीता खाने के फायदे Benefits of eating papaya-

क्या आपको मालूम है कि पपीता एक ऐसा फल है जो साल भर हमे आसानी से मिल जाता है.  कई लोग पपीते का पेड़ अपने घर के आस पास खाली जमीन में लगाते है क्योकि ये एक ऐसा फल है कच्चा होने पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

Advertisements

 

यह फल तथा सब्जी दोनों ही रूप में उपयोगी होता है। कच्चे पपीते में विटामिन ए और सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। साथ ही पपीते को, आयुर्वेद शास्त्र में लाइलाज बीमारियों को दूर करने वाला भी माना जाता है। पपीते में विटामिन सी, विटामिन ई और बीटा कैरोटीन जैसे एंटी-ऑक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। जिससे व्यक्ति की खूबसूरती लंबे समय तक बनी रहती है। आज हम आपको पपीते से होने वाले कुछ ऐसे चमत्कारी फायदों के बारे में बताएँगे जिन्हे जानकर आप भी हैरान हो जायेंगे.

Advertisements

 

पपीता कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए उपयोगी Papaya to Lower Cholesterol Level –

पपीते में उच्च मात्रा में फाइबर मौजूद होते है. साथ ही पपीते में विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स की मात्रा भी भरपूर होती है. अपने इन्हीं गुणों के कारण ये कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में काफी मददगार है.

पपीता वजन घटाने में उपयोगी Papaya useful for weight loss –

फ्रेंड्स क्या आपको मालूम है कि एक मध्यम आकार के पपीते में 120 कैलोरी होती है. अगर आप अपना बढ़ते हुए वजन से परेशान है या आप अपना वजन घटाने के बारे में सोच रहे है, तो आप अपनी डाइट में पपीते को जरूर शामिल करें. क्योकि एक फाइबर्स मौजूद होते है जो वजन घटाने में मददगार होते हैं.

Advertisements

 

पपीता रोग प्रतिरक्षा क्षमता बढ़ाने में उपयोगी Papaya disease useful in increasing immunity –

अगर हमारी रोग प्रतिरक्षा क्षमता अच्छी हो तो हमे बिमारियों से लड़ने की ताकत मिलती है और बीमारिया भी हमसे दूर रहती है. पपीता हमारे शरीर के लिए आवश्यक विटामिन सी की कम को पूरा करता है. ऐसे में अगर आप रोजाना कुछ मात्रा में पपीता खाते हैं तो आपके बीमार होने की आशंका ना के बराबर हो जाती है.

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए Papaya useful for increasing eyesight –

Advertisements

 

पपीते में विटामिन सी तो भरपूर मात्रा में होता ही है, साथ ही विटामिन ए भी पर्याप्त मात्रा में होता है. विटामिन ए आंखों की रोशनी तो बढ़ाता ही है, साथ ही बढ़ती उम्र से जुड़ी कई समस्याओं के समाधान में भी कारगर है.

पपीता पाचन तंत्र को सक्रिय रखने के लिए उपयोगी Papaya is useful for keeping the digestive system active

पपीते में कई पाचक एंजाइम्स मौजूद होते हैं. साथ ही इसमें कई डाइट्री फाइबर्स भी होते हैं. जिसके रोजाना सेवन से हमारा पाचन तंत्र भी सक्रिय रहता है. 

Advertisements

 

Facewash करने से पहले ध्यान रखे 6 बातें What to do for glowing face skin care tips

जाने किन बातो को ध्यान रखें Face धोने से पहले How to do care face easy home remedies

रोज मुँह धोना आम बात है, बचपन से हम धोते आ रहे हैं पर क्या आप जानते हैं कि मुँह धोते समय भी आपसे गलती हो सकती है। अपना चेहरा धोना हमारे रुटीन का वो काम है जिसे हम बिना ध्यान दिए बस यूं ही कर लेते हैं।

Advertisements

 

लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इस नार्मल से दिखने वाले काम में भी कई छोटी-छोटी गलतियां हम कर बैठते हैं जिससे हमें स्किन इन्फेक्शन हो सकता है, यहाँ पर आपको बताया जा रहा है कि मुँह धोते समय किन बातो का ध्यान रखना चाहिए.

सही क्लीन्ज़र का यूज़ ना करना (Do not use the right cleanser for fair skin) –

दोस्तों अगर आप कोई क्लीन्ज़र खरीदते हैं तो वह आपकी स्किन टाइप के अनुसार होना चाहिए। ऑयली स्किन के लिए फोम बेस्ड क्लींजर और ड्राई स्किन के लिए क्रीम बेस्ड क्लींजर होना चाहिए। अगर फेसवॉश के बाद भी आपका चेहरा टाइट, ड्राई या डर्टी फील हो तो इसका साफ़ मतलब हैं कि आपको अपना क्लींजर बदलने की जरुरत है। एक और बात भूलकर भी अपने चेहरे पर साबुन का प्रयोग न करें।

Advertisements

 

हाथो को साफ़ रखें (Keep hands clean) –

क्या आप मुंह धोने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह धोते हैं, अगर नहीं तो आप गंदगी और वैक्टीरिया अपने हाथों के जरिए अपने चेहरे पर ट्रांसफर करते हैं। अगर आप सोचते हैं कि मुंह धोने के दौरान ही आपके हाथ भी धुल जाएंगे तो अपनी इस आदत को जल्द ही सुधर लें, और मुँह धोने से पहले अपने हाथ साफ़ करलें.

मेकअप जरूर उतार लें (remove your makeup) –

अगर लड़कियां अपना मुँह धो रही हैं तो ध्यान रखें सबसे पहले अपना मेकअप उतार लें, यह बिल्कुल सही है कि जब आप अपना चेहरा धोएंगी तो मेकअप तो धुल ही जाएगा.पर फेसवॉश से पहले चेहरे से मेकअप न उतारना आपकी ड्राई और डर्टी स्किन की वहज हो सकता है. क्योंकि मेकअप उतारे बिना फेसवॉश करने से आपकी स्किन के छिद्र बंद हो जाते हैं.

हल्के गुनगुने पानी का प्रयोग करें (Use light lukewarm water for glowing skin) –

गर्मियों में ठन्डे और सर्दियों में गर्म पानी से मुँह धोना आपको बहुत राहत देता होगा, पर ये दोनों ही आपकी स्किन के लिए गलत हैं। बहुत ठंडा पानी आपकी स्किन को नुकसान पहुचता है, और गर्म पानी से भी हमारी स्किन ड्राई हो जाती है। इन दोनी ही तरीको से बचने के लिए मुँह हमेशा गुनगुने पानी से धोएं.

Advertisements

 

मॉइस्चराइजर जरूर लगाएं (Use Moisturizer Sure for fair skin) –

यह तो हम सभी जानते हैं कि मॉइस्चराइजर लगाना हमारी स्किन के लिए बहुत जरुरी होता है। लेकिन क्या वाकई हम ऐसा करते हैं? अच्छी और सॉफ्ट स्किन के लिए हर बार चेहरा धोने के बाद मॉइस्चराइजर लगाना चाहिए। यह हमारे चेहरे को जल्द चिपचिपा होने से भी रोकता है।

दो बार मुँह धोना है जरुरी (Wash your face 2 times for glowing skin) –

इससे कोई मतलब नहीं कि आपका दिन कितना थकान भरा रहा या पूरे दिन काम से फुर्सत ही नहीं मिली, दोस्तों कुछ भी हो पर एक दिन में दो बार फेसवॉश करना ही चाहिए। जैसे की आप सुबह तो फेसवॉश करते ही हैं रात को सोने से पहले भी मुँह जरूर धोएं, एक बात का ध्यान रखें दो बार मुँह धोना काफी हैं बार बार मुँह धोने से भी आपकी स्किन को नुकसान होता है.

Advertisements

 

मटके का पानी पीने के चमत्कारी फायदे health benefits of drinking clay pot water Health Care Tips

मटके का पाने पीने के फायदे Drinking clay pot water health benefits

आजकल कई घरों में पानी स्‍टोर करने के लिए मिट्टी के बर्तन यानी घड़े का प्रयोग किया जाता है। आज भी हममे से ही कई लोग ऐसे भी हैं जो इन्हीं मिट्टी से बने बर्तनो में पानी पीते है। ऐसे लोगों का मानना है कि मिट्टी की भीनी-भीनी खुशबू के कारण घड़े का पानी पीने का आनंद और लाभ कुछ अलग ही है।

Advertisements

 

विशेषज्ञों के अनुसार मिट्टी के बर्तनों में पानी रखा जाए, तो उसमें मिट्टी के गुण आ जाते हैं और मिट्टी में कई प्रकार के रोगों से लड़ने की क्षमता पाई जाती है। इसलिए घड़े में रखा पानी हमें स्वस्थ बनाए रखने में अहम भूमिका निभाते हैं।

घड़े का पानी चयापचय को बढ़ाने के लिए उपयोगी – प्‍लास्टिक की बोतलों में पानी भरने या स्टोर करने से, पानी में प्‍लास्टिक से अशुद्धियां एकत्रित हो जाती है जो बोतल में भरे पानी को अशुद्ध कर देती है। नियमित रूप से घड़े का पानी पीने से प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद मिलती है। और साथ ही यह भी माना जाता है कि घड़े का पानी पीने से शरीर में टेस्‍टोस्‍टेरोन का स्‍तर बढ़ जाता है।

Advertisements

 

घड़े का पानी में पीएच के संतुलन के लिए – घड़े का पानी पीने का एक लाभ यह भी है कि घड़े को बनाये जाने के लिए उपयोगी मिट्टी में क्षारीय गुण विद्यमान होते है। क्षारीय पानी की अम्लता के साथ प्रभावित होकर, उचित पीएच संतुलन प्रदान करता है। इस पानी को पीने से एसिडिटी और  पेट से सम्बंधित अन्य बीमारिया भी दूर होती है.

गले को ठीक रखे घड़े का पानी – हम गर्मियों में अक्सर फ्रीज का ही ठंडा पानी ही पीते है. फ्रीज का ठंडा पानी हम पी तो लेते हैं लेकिन यही ठंडा पानी हमारे गले और शरीर के अन्य अंगों को एक दम से ठंडा कर शरीर पर बहुत बुरा प्रभावित डालता है। ज्यादा ठंडा पानी पीने से गले की कोशिकाओं का ताप अचानक से गिर जाता है जिस कारण व्याधियां उत्पन्न होती है। और इसे बाद हमे गले का पकने और ग्रंथियों में सूजन आने की समस्या लगी रहती है लगती है और फिर शुरू होता है शरीर की क्रियाओं का बिगड़ना। लेकिन घडें को पानी गले पर सूदिंग प्रभाव देता है। इसलिए हमे फ्रीज का ज्यादा ठंडा पानी पीने से बचना चाहिए.

Advertisements

 

वात को नियंत्रित करे घड़े का पानी – अक्सर हम गर्मिया शुरू होती ही फ्रिज का या बर्फ का पानी पीते है, इसकी तासीर काफी गर्म होती है और साथ ही यह वात भी बढाता है। बर्फीला पानी पीने से हमे कब्ज जैसी समस्या का सामना भी करना पड़ता है तथा हमारा गला अक्सर खराब हो जाता है। लेकिन यदि हम फ्रीज की जगह मटके का पानी पीये, तो यह बहुत फायदेमंद होगा क्योकि यह वात नहीं बढाता, इसका पानी संतुष्टि देता है। इसके साथ ही, मटके को रंगने के लिए गेरू का प्रयोग किया जाता है जो हमे गर्मी में शीतलता प्रदान करता है। मटके के पानी से हमे कब्ज ,गला ख़राब होना आदि  समस्याओ का सामना भी नहीं करना पड़ता.

Advertisements

 

Job Interview में सफलता पाने के आसान उपाय 4 easy tips for successful interview

जाने कैसे पाएं साक्षात्कार में सफलता How to get success in Interview

जॉब इंटरव्यू में पास हो जाना कोई आसान काम नहीं होता है. जॉब पाने के लिए एक से ज्यादा बार इंटरव्यू देना पड़ता है. ज्यादातर मामलों में उम्मीदवार नियोक्ता को इम्प्रैस करने में चूक जाते हैं. ऐसा इसलिए होता है,

Advertisements

 

क्योंकि कुछ अनजानी गलतियों के कारण नियोक्ता का आपमें इंट्रेस्ट खत्म हो जाता है. पर आपक्को उन गलतियों के बारे में पता ही नहीं चलता, इसलिए आज यहाँ पर आपको बताया गया है कि इंटरव्यू के समय ध्यान रखने योग्य कुछ महत्वपूर्ण बातें.

अपना गुणगान भूलकर भी ना करें (Do not compliment in interview) –

जब भी आप किसी जॉब इंटरव्यू के लिए जाएं तो नियोक्ता के सामने अपना गुणगान कम से कम करें अर्थात अपने बारे में ज्यादा बात न करें जितना पूछें उतना ही जवाब दें. एक नियोक्ता हमेशा उम्मीदवार में टीम प्लेयर की तलाश करता है. इसलिए इंटरव्यू के दौरान ये गलती करने से हमेशा बचें.

Advertisements

 

सवाल पूछना (Do not ask questions in interview) –

अक्सर लोग इंटरव्यू के दौरान सवाल पूछने से डरते हैं और बाद में उन्हें इसका खामियाजा भी उठाना पड़ता है. अगर इंटरव्यू के दौरान सवाल पूछने का अवसर मिले, तो इसका फायदा जरूर उठाएं जॉब इंटरव्यू कभी भी वन-साइडेड नहीं होना चाहिए. अगर आप चाहते हैं कि नियोक्ता का इंट्रेस्ट बना रहे, तो इसके लिए अपनी ओर से भी सवाल जरूर पूछें.

पूरी तैयारी ना रखना (No preparation for interview) –

जब भी किसी इंटरव्यू के लिए जाएं तो सबसे पहले अपनी ओर से पूरी रिसर्च कर के जाएं. जॉब से जुड़ी जानकारी न होने के कारण बहुत से उम्मीदवार इंटरव्यू नहीं निकल पाते. ऐसे में इंटरव्यू देने से पहले रिसर्च करना कभी ना भूलें.

पुरानी जॉब की बुराई भूलकर भी ना करें (Do not do evil of old job in interview)  –

बहुत से लोग नियोक्ता के सामने अपनी पुरानी जॉब की बुराई करने की गलती कर देते हैं. लेकिन अगर आप अपने सेलेक्शन चांसेज बढ़ाना चाहते हैं तो कभी भी ये गलती ना करें. इससे नियोक्ता की नजरों में आपकी खराब छवि बनती है.

Advertisements

 

रोजाना चावल खाने से क्या होता है Benefits of eating rice Health Care Tips Healthy Diet

जाने  जब रोज खाते है चावल  क्या होता है Benefits of eating rice every day in Hindi

फ्रेंड्स, कई लोगो को चावल इतने पसंद होते है कि वो बिना चावल के खाने की कल्पना भी नहीं कर सकते। लेकिन कई लोग ऐसे भी होते है जिन्हे चावल तो बहुत पसंद होते है लेकिन डायटिंग के चक्कर से चावल खाने से बचते हैं।

Advertisements

 

पर फ्रेंड्स क्या आपको पता है कि चावल में विभिन्न प्रकार के विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं। इसमें विटामिन डी, कैल्शयिम, नियासिन, फाइबर, आयरन, थायमीन और राइबोफ्लेविन पर्याप्त मात्रा में होता है। यहां तक कि डॉक्टर भी लूज़मोशन के मरीज को चावल और मूंग दाल की खिचड़ी बना कर खाने की सलाह देती है. क्योंकि चावल बहुत जल्दी हजम हो जाता है। चावल भी हर भोज्य पदार्थ की ही तरह काफी स्वास्थ्य वर्धक होता है,

Advertisements

 

लेकिन अगर वह लिमिट में खाया जाए तो। वाइट राइस की जगह अगर आप ब्राउन राइस खाएं तो आपको ज्यादा फायदा होगा। चावल खाने वाले लोगो को एक बात का विशेष रूप से ध्यान रखना चाहिए कि अगर उन्हें मधुमेह या अस्थमा है तो वे चावल ना खाये क्योकि इसकी प्रकृति ठंडी होती है।

चावल खाने के लाभ

शरीर को मिलती है एनर्जी – क्या आपको मालूम है कि एक कटोरी चावल खाने से आपके शरीर को कितनी ऊर्जा मिलती है। फ्रेंड्स चावल खाने से शरीर को कार्बोहाइड्रेट्स मिलते हैं तथा हमारा ब्रेन भी अच्छे से काम करता है। इसके साथ ही हमारे शरीर का मैटाबॉलिज्म बढ जाता है और हमे एक्टिव रहने के लिये एनर्जी मिल जाती है।

त्वचा में निखार लाने के लिए – आयुर्वेद के अनुसार, त्वचा को निखारने के लिये चावल बहुत उपयोगी बताया गया है। साथ ही चावल का पानी जिसे हम माढ भी कहते हैं, वह त्वचा सम्बंधित हर समस्‍या को दूर करने के लिये लाभकारी होता है। क्योकि इसमें एंटीऑक्‍सीडेंट होता है जो चेहरे की झुर्रियों को कम करने का काम करता है।

अलजाइमर को ठीक करने के लिए – यदि आप अलजाइमर की समस्या से परेशान है तो आपको डेली एक कतरो चावल खाने चाहिए. क्योकि चावल खाने से हमारे दिमाग में न्यूरोट्रांसमीटर का विकास तेज हो जाता है, जो अलजाइमर रोगियों को बीमारी के विपरीत लड़ने में सहायता प्रदान करता है.

Advertisements

 

बालो को झड़ने से कैसे रोकें घरेलू उपचार how to get rid of hair fall hair care tips

बालों को झड़ने से रोकने के आसान उपाय 5 vegetables for hair growth

आजकल बालो का झड़ना बहुत ही आम समस्या बन चुकी है, अगर आप भी बाल झड़ने की समस्या से बहुत परेशान हैं, तो सबसे पहले भोजन पर ध्यान देने की जरूरत है. पौष्टिक भोजन की मदद से बाल झड़ने की समस्या पर काबू पाया जा सकता है.

Advertisements

 

जी हाँ सही भोजन से हम जैसे कई बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं, उसी प्रकार पौष्टिक भोजन से हम बालो की समस्या से भी छुटकारा पा सकते हैं.

अंडा (Egg for hair growth and shining hair) –

बायोटिन और विटामिन से भरपूर अंडा बालों के विकास और स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छा माना जाता है. अंडे को खाने के अलावा इसे ऑलिव ऑयल के साथ मिक्स करके बालों में लगाया भी जा सकता है. 2 अंडे के साथ 4 चम्मच ऑलिव की मात्रा का प्रयोग करें. पतला पेस्ट बनाए और सिर पर लगा लें. इससे आपके बाल झड़ने नहीं हैं.

Advertisements

 

पालक (Spinach for fast hair growth) –

पालक आयरन और फोलेट का बेहतरीन स्त्रोत है, बालों के विकास के लिए पालक बहुत मददगार होती है. इसके साथ ही फोलेट लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में भी मदद करती है, जो बालों को ऑक्सीजन पहुंचाती है. भोजन में पालक को सलाद के रूप में भी लिया जा सकता है.

शिमला मिर्च (capsicum shining hair) –

लाल, पीला और हरे रंग में मिलने वाली शिमला मिर्च में विटामिन सी से भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जो कि बालों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी होती है. विटामिन सी की कमी की से वजह बालों में रूखापन बढ़ जाता है और जल्दी टूटने लगते हैं. इसलिए विटामिन सी हमें भरपूर मात्रा में लेना चाहिए.

मसूर की दाल (lentils for hair growth) –

टोफू, सोयाबीन, स्टार्चयुक्त बीन्स और मटर शाकाहारी लोगों के लिए आयरन से भरपूर प्रोटीन के महत्वपूर्ण सोर्स है. ये सभी पदार्थ बालों के विकास के लिए बेहद जरूरी होते है.

शकरकंद (Sweet potato for nourishing hair) –

विटामिन और बीटा कैरोटिन से भरपूर शकरकंद बालों के विकास के लिए सबसे बढ़िया होता है. बीटा कैरोटिन के दूसरे अन्य स्त्रोतों में गाजर और कद्दू भी हैं. जिन्हे अपने आहार में हम ले सकते हैं और अपने बालो को झड़ने से रोक सकते हैं.

Advertisements

 

इन चीजों को भूलकर भी ना रखे फ्रिज में 8 things you don’t need to keep in your refrigerator Health Care

इन 8 चीजों को फ्रिज में ना रखे 8 things you don’t need to keep in your fridge

हम अक्सर खाने-पीने की चीजों को बाजार से लेकर घर के फ्रिज में रख देते है. लेकिन फिर भी ताजा रहने की जगह वह चीज दो ही दिन में गल जाती है. और फिर हम सोचते है कि शायद हम बाजार से ही ये सब्जी या फल देखकर ना लाये हो.

Advertisements

 

हालांकि ऐसा जरूरी नहीं है कि फ्रिज में रखने से सभी चीजे फ्रेश ही रहे. लेकिन ध्यान रखे कि सभी चीजे फ्रीज में नहीं रखे जाती. आज हम आपको उन 8 चीजों के बारे में बताएँगे जिन्हे भूलकर भी  फ्रिज में नहीं रखना चाहिए.

सेब Apple – यदि आप सेब को फ्रिज में रखना ही चाहते हैं तो सेब को कागज में लपेटकर नीचे फल सब्जी के लिए बने शेल्फ में ही रखें. और इसके साथ ही, फ्रीज में कोई भी बीज वाले फल जैसे आड़ू, आलूबुखारा और चेरी को भी ना रखें.

Advertisements

 

क्योकि कम टेम्परेचर पर इन्हे रखने से इनमें मौजूद एंजाइम सक्रिय हो जाते हैं और फल जल्दी ही पक जाता है. इसलिए इन्हे कम तापमान पर रखने से बचे.

ब्रेड Bread – बहुत से लोगो की फ्रिज में ब्रेड रखने की आदत होती है. या यूँ कहे कि बहुत से लोग ब्रेड के खराब हो जाने के डर से ब्रेड को फ्रिज में रखते हैं और उस ब्रेड को कई दिनों तक खाते हैं. फ्रिज में रखी ब्रेड बहुत जल्दी सूख जाती है. जिसे खाने पर हम बीमार पड़ जाते है.

शहद Honey – हममे से ही कई लोग शहद को फ्रीज में रखते है. शहद को फ्रीज में नहीं रखना चाहिए क्योकि यदि आप शहद को फ्रीज में रखते है तो उसमे क्रिस्टल बनने लगते हैं. जिससे शहद जल्दी ही ख़राब हो जाता है.

जैतून के तेल Olive oil – जैतून के तेल को फ्रिज में रखने की कभी भूल ना करे क्योकि कम तापमान पर ऑलिव ऑयल जल्दी संघनित हो जाता है जिससे तेल मक्खन की तरह गाढ़ा हो जाता है. इसलिए जैतून के तेल को हमेशा रूम टेम्परेचर पर ही रखे.

Advertisements

 

प्याज Onion – प्याज को हमेशा सूखे और अंधेरे स्थान पर रखना चाहिए क्योकि प्याज में थोड़ी नमी होती है. जिसे फ्रीज में रखने पर उसमें फंफूदी लग जाती है. इसलिए प्याज फ्रीज में ना रखे.

आलू Potato – आलू को फ्रीज या ठंडे तापमान में नहीं रखना चाहिए क्योकि आलू को ठंडे तापमान में रखने से स्टार्च शुगर में बदल जाता है. इसलिए आलू को पेपर बैग में रूम टेमप्रेचर पर घर के अंधेरे व् ठंडे में ही रखना चाहिए.

Advertisements

 

अचार Pickle – अचार में विनेगर ज्यादा मात्रा में मिलाया जाता है जिसे फ्रीज में रखने से फ्रीज में रखे सामान भी खराब हो सकते है. इसलिए अचार को फ्रीज में रखने के बजाए रूम टेम्परेचर पर रखे इससे अचार कई समय तक ताजा रहता है.

केले Bananas – केले को फ्रीज में रखने की कभी भूल नहीं करनी चाहिए. क्योकि केले की डंडी में से इथाईलीन गैस निकलती है, जो फ्रीज में रखे फलों को भी जल्दी पका देती है. लेकिन यदि आप केलो को फ्रीज में रखना ही चाहते है तो केले की डंडी पर प्लास्टिक चढ़ा सकते हैं. इससे केले और और आसपास रखे फल लंबे समय तक ताजे रहेंगे.

Advertisements