All posts by upcharnuskhe

कैसे पाएं लो बीपी की समस्या से छुटकारा how get rid from blood pressure health advice

लो बीपी कंट्रोल करने के आसान घरेलू उपचार hoe remedies for Low BP problem

बहुत से लोगो को आजकल बीपी लो होने की समस्या होती है. बीपी लो हो या हाई दोनों ही आपके लिए खतरनाक शाबित हो सकते हैं। बीपी शरीर में रक्‍त का संचरण होने की प्रक्रिया होती है। कभी – कभी शरीर में यह संचारण कम हो जाता है लो बीपी के नाम से जाना जाता है।

Advertisements

 

आजकल छोटी उम्र में भी लो बीपी होने लगा है. कितने ही इलाज करें पर इससे निजात नहीं मिलता. आज हम आपको बताएंगे अगर आपको भी है लो बीपी टी इन तरीको का प्रयोग जरूर करें.

कैसे पहचाने की आपका बीपी लो है

  1. चक्कर आना या बेहोशी हो जाना,
  2. ज्यादा पसीने का आना.
  3. धुंधला दिखाई देना या आँखों के आगे अँधेरा आ जाना,
  4. घबराहट होना,
  5. सीने मे दर्द होना या दिल की धड़कनो का तेज हो जाना,
  6. हाथ पैरो का ठंडा पड़ जाना.
  7. थोड़ा सा भी काम करने पर ह्रदय का जोरो से धड़कना.

    Advertisements

     

ज्यादा नमक लें (Get more salt) –

अगर आपको लो बीपी की समस्या हो तो ज्यादा नमक खाएं, नमक में सोडियम मौजूद होता है, जो ब्‍लड प्रेशर बढ़ाता है। लो ब्लड प्रेशर में एक गिलास पानी में 1 चम्मच नमक मिलाकर पीने से भी फायदा होता है।

कॉफी है फायदेमंद (Coffee is beneficial) –

लो बीपी के लिए कॉफी भी बहुत फायदेमंद होती है, कॉफी के सेवन के लिए पहले यह जरूर जांच ले कि आपका ब्‍लड प्रेशर कम ही हो। आपको रोजाना सुबह एक कप कॉफी जरूर पीना चाहिए।

किशमिश भी है फायदेमंद (Raisin is also beneficial) –

बीपी लो होने पर 10-15 दाने किशमिश के रात में भिगो दें और सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। जिस पानी में आपने किशमिश भिगाये थे आप उस पानी को भी पी सकते हैं।

तुलसी के पत्तो का सेवन (Basil Leaves) –

प्रतिदिन सुबह 3-4 तुलसी के पत्तों का सेवन करने से भी लो ब्लड प्रेशर को काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है। रोज तुलसी के कुछ पत्तो को चबाकर खाये या फिर चाय में डालकर पियें.

Advertisements

 

निम्बू का पानी (Lemon water) –

निम्बू के पानी में हल्का सा नमक और थोड़ा सा चीनी डालकर पीने से लो बीपी में काफी फायदा मिलता है। इससे शरीर को एनर्जी तो मिलती ही है साथ ही लीवर भी अच्छे से काम करता है।

लहसुन का उपयोग (Use of Garlic) –

लहसुन निम्न रक्तचाप के रोगियों के लिये बहुत ही लाभदायक होता है इसका प्रतिदिन सेवन करने से भी लो ब्लड प्रेशर की समस्या में आराम होता है।

छुहारे और खजूर (Museums and dates) –

रात के समय में 2-3 छुहारे दूध में उबालकर पीने या फिर खजूर खाकर दूध पिने से भी निम्न रक्तचाप में सुधार होता है।

Advertisements

 

व्यायाम करते रहना चाहिए (Exercise is necessary) –

व्यायाम स्वस्थ्य शरीर के लिए सबसे ज्यादा जरुरी है, इसलिए लो ब्लड प्रेशर के मरीजो के लिए पैदल चलना, साईकिल चलाना और तैरना जैसे व्यायाम भी फायदेमंद होते हैं, सतह ही भोजन भी पोषक तत्वोँ से भरपूर होना चाहिए.

Advertisements

 

मोबाइल स्क्रीन को टूटने से बचाने के उपाय How to fix a broken, cracked smartphone screen tips

जानें कैसे बचाएं फोन को स्क्रेच होने से How to save the phone with scratches

अधिकतर देखा गया है की लोगो के फ़ोन की स्क्रीन टूट जाती है.अक्सर हाथ से फोन छूट कर गिर जाता है। ऐसे में कई बार बच भी जाता है लेकिन ज्यादातर मामलों में स्क्रीन टूट ही जाती है। क्या आप जानते हैं आपके स्मार्टफोन की सिक्योरिटी कितनी जरुरी है.

Advertisements

 

हर डिवाइस की सुरक्षा की तरह ही नए स्मार्टफोन  की सुरक्षा भी जरुरी है आज के समय में हमारे सभी काम मोबाइल से हो रहे हैं ऐसे में यदि किसी कारणवश हमारा फ़ोन टूट जाये तो नुक्सान के साथ-साथ हमारा डाटा भी चला जाता है इसलिए फ़ोन की स्क्योरिटी बहुत जरुरी है। आज हम आपको बताएंगे की फ़ोन की स्क्रीन को टूटने से कैसे बचाया जा सकता है।          

Advertisements

 

कई बार मोबाइल फ़ोन हमारे हाथ से छुट कर फर्श पर गिर जाता है या किसी कारण पॉकेट में डिस्प्ले टूट जाती है और जब स्मार्टफोन की डिस्प्ले या टच एक बार टूट जाये तो नई डिस्प्ले अच्छे से चल नहीं पाती है इसलिए एक अच्छी क्वालिटी का स्क्रीन गार्ड लगवाएं, फ़ोन की सिक्योरिटी के लिए टेम्पर्ड ग्लास स्क्रीन प्रोटेक्टर सबसे अच्छा उपाय है ये ग्लास स्क्रीन प्रोटेक्टर की तरह है, इससे आपके फ़ोन की स्क्रीन सेफ रहेगी।

आपके फ़ोन की स्क्रीन स्क्रैच या टूटने से बच  जाएगी। ये बाजार में आपको आसानी से मिल जायेंगे या फिर आप इसेऑनलाइन के जरिये भी मंगा सकते है।

स्मार्ट फ़ोन में बैक कवर लगवाने से फ़ोन के पिछले हिस्से की सिक्योरिटी बढ़ जाती है यदि आपका मोबाइल अचानक गिर जाये तो बैक कवर आपके मोबाइल की बॉडी की सुरक्षा करता है और मोबाइल फ़ोन को स्क्रैच या डैमेज होने से बचाता है.

Advertisements

 

अगर आप अपने फ़ोन को आकर्षक बनाना चाहते हैं तो एक अच्छा सा बैक कवर उपयोग कर सकते हैं आजकल मार्किट में बहुत से डिज़ाइन वाले बैक कवर और फ्लिप कवर मिल जाते हैं। आप उनका इस्तेमाल अपने फ़ोन में कर सकते हैं इससे मोबाइल में खरोंच भी नहीं लगती और फ़ोन लम्बे समय तक नया जैसा लगता है।

आप अपने फोन की स्क्रीन को सुरक्षित रखने के लिए अपने फ़ोन में ग्लास स्क्रीन प्रोटेक्टर भी लगा सकते हैं.

Advertisements

 

इसके प्रयोग से आपके मोबाइल की स्क्रीन सेफ रहेगी, इससे फ़ोन गिरने पर भी आपके स्क्रीन को कोई नुकसान नहीं होगा।

एक स्मार्टफोन खरीदने के बाद सबसे पहेले अपने फ़ोन का इन्शुरन्स करवा लेना चाहिए आजकल कई कंपनियों के द्वारा स्मार्टफोन का पानी से ख़राब होने, टूटने जाने पर या किसी तकनीकी खराबी के आधार पर इन्शुरन्स किया जाता है ऐसी कोई भी परेशानी होने पर स्मार्टफोन पर होने वाले अनावश्यक खर्च से बचा जा सकता है इसलिए यदि संभव हो तो स्मार्टफोन खासकर बहुत ज्यादा महंगे फ़ोन का इन्शुरन्स जरुर करवाना लेना चाहिए।

Advertisements

 

टीवी खरीदते वक्त ध्यान रखे ये 5 बातें LED LCD Smart TV Best tips for buying a new TV buying guide

टीवी खरीदते समय ध्यान रखे ये बातें These things to know before buying new TV

आजकल बाजार में कई नए तरह के टीवी आने लगे है. पहले के समय में सिर्फ एक ही तरह के टीवी बाजार में  मिलते थे जिससे लोगो को टीवी सेलेक्ट करने में ज्यादा समय नहीं लगता था क्योकि उनके पास और कोई दूसरा ऑप्शन नहीं था.

Advertisements

 

इसलिए वे बाजार में जाकर बिना कुछ सोचे टीवी घर खरीदकर घर ले आते थे. लेकिन आज के समय में कई तरह के टीवी मार्किट में उपलब्ध है. जिनमे से एक सेलेक्ट कर पाना काफी मुश्किल हो जाता है. अगर टीवी खरीदते समय हम विशेष बातों का ध्यान रखे तो हम एक सबसे अच्छा और बेहतर टीवी खरीद सकते है. आज हम आपको कुछ ऐसी महत्वूर्ण बातो के बारे में बताएँगे जिन्हे ध्यान में रखकर अगर टीवी खरीदा जाये तो आप एक बेहरीन टीवी का चयन कर सकते है.  

Advertisements

 

टीवी खरीदते वक्त सबसे पहले हमे टीवी का साइज देखना काफी जरूरी होता है. और आप भी शायद सबसे पहले टीवी का साइज ही ध्यान रखते होंगे. टीवी खरीदते समय टीवी का साइज काफी मायने रखता है लेकिन हो सकता है आपकी पसंद और आपके घर का साइज़ एक दूसरे के अपोजिट हो. लेकिन टीवी उसी साइज का खरीदे जो आपके ड्राइंगरूम या फिर बेड रूम में फिट बैठ सके.

टीवी खरीदते समय दूसरी महत्वपूर्ण बात है बजट. अतः अपने बजट को ध्यान में रखकर ही टीवी ख़रीदे। कई बार हम सेल्समेन की बातो से मोटीवेट होकर महंगा टीवी भी खरीद लेते है. और घर आकर अफ़सोस करते है.

लेकिन ध्यान रखे कि सेल्समेन का काम सिर्फ टीवी बेचने का होता है। वह आपको अपने वहाँ के बेस्ट और ज्यादा महंगे के टीवी दिखायेगा लेकिन आप अपने बजट के हिसाब से ही अपना टीवी का चयन करे.

कई लोग ज्‍यादा ऑफरों और लुक के चक्‍कर की वजह से महंगे टीवी खरीद लेते है. अगर आप भी टीवी खरीदने जा रहे है तो ज्‍यादा ऑफरों और लुक के चक्‍कर में न पड़कर अपनी जरूरत को ध्‍यान में रखें,  जैसे आपके घर के लिए कौन से साइज का टीवी बेहतर रहेगा,

Advertisements

 

टीवी का साउंड कैसा है, टीवी की वांरटी या फिर गांरटी कितनी है इन सभी बातों को ध्यान में रखकर ही एक अच्छे टीवी का चयन करे।

आजकल स्‍मार्टटीवी का जमाना है जिसमें आप मनोरंजन के साथ ही इंटरनेट का मज़ा भी ले सकते है. अगर आपका बजट थोड़ा अधिक है या आप थोड़ा महंगा टीवी खरीदने की सोच रहे है तो साधारण टीवी के साथ स्‍मार्ट टीवी लीजिए. इसमें आप इंटरनेट कनेक्‍टीविटी की मदद से सोशल नेटवर्किंग साइट और यू ट्यूब वीडियो भी देख सकते हैं। इन सभी बातों को ध्यान में रखकर आप अपने लिए एक बेस्ट और बेहतर टीवी खरीद सकते है.

Advertisements

 

सुबह उठते ही करे ये काम नहीं होगी धन की कमी How to Attract Money Wealth Fast

ध्यान रखें ये बातें नही होगी धन की कमी How to attract money Wealth

हमारी दिनचर्या सुबह नींद खुलने के साथ ही शुरू हो जाती है. अगर हमारी सुबह की शुरुआत अच्छी होती है तो हमे पूरा दिन अच्छा लगता है और हमारा मन हर काम में लगता है और अगर हमारी सुबह की शुरूआत ही अच्छी नहीं होती.  तो हमे पूरा दिन मुश्किलो से भरा और हुआ और लंबा लगता है.

Advertisements

 

आज हम आपको कुछ ऐसे आसान उपाय बताने जा रहे है जिन्हे सुबह के समय करने से आपका पूरा दिन तो अच्छा रहेगा ही साथ ही आपको कभी भी पैसो की कोई कमी नहीं होगी.

उठते ही देखें अपनी हथेलियां See your palms –

मान्यता है कि सुबह उठते ही अपनी हथेलियों को देखने से महालक्ष्मी, सरस्वती माँ के साथ ही भगवान विष्णु की भी कृपा प्राप्त होती है. इसलिए अगर आप सुबह बिस्तर से उठते ही अपने दोनों हथेलियों को आपस में मिलाकर देखते है. तो आप बहुत जल्द पैसो की तंगी से छुटकारा पा सकते है.

Advertisements

 

भूमि को करें नमस्कार Greet the Land –

माना जाता है कि धरती पर पैर लगाने से हमे दोष लगता है. जिसके कारण हमारे जीवन में कोई न कोई परेशानी हमेशा लगी रहती है. इसलिए सुबह के समय बेड से पैर नीचे रखते ही भूमि को नमस्कार करे. ऐसा नियमित रूप से करने से आप पर हमेशा माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है.

उठते ही बिस्तर को साफ करें Clean the bed as soon as you get up – 

सुबह बिस्तर से उठते ही हमे सबसे पहले अपना बिस्तर साफ़ कर लेना चाहिए क्योकि फैला और गंदा  बिस्तर घर में गरीबी लाता है इसलिए सुबह उठते ही सबसे पहले बिस्तर को साफ करे। ऐसा करने से  आप बहुत जल्द पैसो की समस्या से छुटकारा पा सकते है.

मंदिर को हमेशा साफ रखें always keep the temple clean –

याद रखे कि घर में बने मंदिर में कभी भी सामान अव्यवस्थित या फैला हुआ ना हो. मन्दिर में मूर्तियां और पूजा का सामान सुव्यवस्थित तरीके से सजा हुआ होना चाहिए। ऐसा करने से देवी-देवता प्रसन्न होते है और साथ ही कुंडली के दोष भी शांत होते है।

Advertisements

 

सुबह उठने के बाद स्नान कर रोजाना दीपक जलाने से और नियमित रूप से मंदिर की सफाई करने से नकारात्मक ऊर्जा घर से दूर होती है और हमे कभी पैसो की तंगी का सामना नहीं करना पड़ता.

इष्टदेव को याद करें Wake up in the morning and remember Your God –

सुबह उठते ही स्नान के बाद हाथ जोड़कर अपने इष्टदेव को याद करें और उनका ध्यान करे। इससे इष्टदेव की कृपा सदैव आपके ऊपर बनी रहेगी और साथ ही आपको कभी धन का अभाव भी नहीं रहेगा।

गाय को रोटी खिलाएं feed the Cow – 

Advertisements

 

सुबह के समय जब भी आप पहली रोटी बनाएं तो उस रोटी को गाय के लिए निकाल ले और जब भी आपको गाय दिखे तो उसे वह रोटी खिला दे। ऐसा करने से हमारे घर में सकारात्मकता आती है और नकारात्मक ऊर्जा घर से दूर होती है.

माता-पिता का आशीर्वाद लें Take the blessings of parents-

जब भी आप घर से किसी काम के लिए बाहर निकले तो ध्यान रखे कि घर से बाहर निकलने से पहले अपने माता-पिता व घर के बड़े-बुजुर्गों के पैर छूकर आशीर्वाद जरूर ले। ऐसा करने से आपकी कुंडली में स्थित सभी विपरीत ग्रह आपके अनुकूल हो जाएंगे और साथ ही आपको शुभ फल प्रदान करेंगे और आपके काम बनते चले जाएंगे।

Advertisements

 

मुँह के छालों से कैसे पाए छुटकारा get rid of Mouth Ulcers Naturally blister Home Remedies

मुँह जीभ के छालो से छुटकारा पाने के आसान तरीके How to Get Rid of Mouth Ulcers In hindi

मुंह में छालों  का होना एक आम बात है. यह समस्या कभी भी किसी को भी हो सकती है. मुँह में छालों के होने पर हमे खाना खाने में काफी समस्या होती है और कभी कभी यही छाले इतने बढ़ जाते है कि व्यक्ति को बोलने में भी काफी तकलीफ होती है.

Advertisements

 

छालों के उपचार के लिए मार्किट में कई सरे जेल और क्रीम उपलब्ध है. लेकिन अगर आप चाहे तो अपने किचन में मौजूद चीजों से ही इसका उपचार आसानी से कर सकते हैं। आज हम आपको 6 ऐसे आसान उपाए बताएँगे जिनके प्रयोग से आप बहुत जल्द ही मुँह के छालों से छुटकारा पा सकते है.

तुलसी के पत्तो का प्रयोग –

तुलसी के अनेक स्वास्थ्यवर्द्धक और दर्दनिवारक गुण हैं। तुलसी के पत्तो के प्रयोग से आप जल्द ही मुँह के छालों से छुटकारा पा सकते है.

Advertisements

 

दिन में दो से तीन बार चार-पाँच तुलसी के पत्तों को चबाकर खाने से केवल छालों के दर्द से ही राहत नहीं मिलता है बल्कि धीरे-धीरे छाले भी सही होने लगते है.

बर्फ का प्रयोग  –

बर्फ के प्रयोग से भी आप जल्द ही मुँह के छालों से छुटकारा पा सकते है. मुंह में छाले होने पर बर्फ के एक टुकड़े को लेकर छाले वाले जगह पर सिकाई करें. इससे छालो के दर्द से काफी राहत मिलती है और इसके कुछ समय के प्रयोग से छाले जल्दी सही हो जाती है.

हल्दी का प्रयोग –

हल्दी में मौजूद एन्टीसेप्टिक और एन्टी-इन्फ्लैमटोरी गुण छालों को न सिर्फ ठीक करते हैं बल्कि यह गुण छालों को दुबारा होने से भी रोकते हैं। हल्दी पाउडर में कुछ बूंद पानी मिलकर पेस्ट तैयार  कर ले और अब इस पेस्ट को छालों पर लगायें, इससे दर्द से तुरन्त राहत मिल जाएगा।

Advertisements

 

एलोवीरा का प्रयोग –

एलोवीरा मुँह और होठों में हो रहे छालो के लिए एक अचूक और चमत्कारी दवा है। एलोवीरा का रस मुँह में हो रहे छालों पर लगाए. इससे आप जल्द ही छालों की समस्या से छुटकारा पा सकते है.

शहद और गिलेसरीन का प्रयोग-

शहद और गिलेसरीन के प्रयोग से भी आप छालों की समस्या से छुटकारा पा सकते है.  मुंह में छाले होने पर शहद और गिलेसरीन का इस्तेमाल काफी अच्छा रहता है. शहद और गिलेसरीन को आपस में मिलाये और इस मिश्रण को कॉटन की मदद से लों में लगाए. इससे मुंह के छाले धीरे-धीरे कम होने लगेंगे.

Advertisements

 

कुमकुम भाग्य शो कहानी में आया एक बहुत बड़ा ट्विस्ट Kumkum Bhagya TV show upcoming twist review

शो की कहानी ने लिया एक नया मोड़ New turn in kumkum bhagya show

ज़ी टीवी पर टेलीकास्ट हो रहे सीरियल कुमकुम भाग्य शो में आने वाला है एक बहुत बड़ा ट्विस्ट जी हाँ फ्रेंड्स अगर आप इस शो के डेली व्यूअर है तो शो में अपने देखा ही होगा की अभि प्रज्ञा को ढूंढने के लिए काफी कोशिशे कर रहा है सोशल मीडिया और मीडिया में चल रही ख़बरों को अगर सच माने तो कहा जा रहा है

Advertisements

 

की शो के अपकमिंग एपिसोड में आप देखेंगे की प्रज्ञा ये नहीं चाहती है की अभि उसे ढूंढते हुए खुद किसी परेशानी में फंस जाए इसीलिए वो गुंडों की कैद से भागने की एक बार फिर से कोशिश करेगी और वो इस बार प्रज्ञा अपनी इस कोशिश में कामयाब हो जायेगी वो गुंडों चकमा देकर भाग जायेगी और बस स्टेशन पहुँच जायेगी अभि भी बस स्टेशन के आस-पास ही होता है तभी प्रज्ञा छुपते  हुए मुंबई जाने वाले ट्रक में बैठने के लिए जाने लगेगी अभि भी वही पर आ जायेगा

शो के आने वाले एपिसोड्स में ये देखना काफी दिलचस्प होने वाला है की क्या अभि और प्रज्ञा का एक दूसरे से आमना सामना हो पायेगा क्या दोनों सही सलामत अपने घर पहुँचने में कामयाब हो पाएंगे?

मनीष ने कीर्ति आदित्य को लेकर किया एक बड़ा फैसला ye rishta kya kehlata hai TV show upcoming twist review

क्या होगा मनीष का ये फैसला Manish decided to take a big decision  

स्टार प्लस पर टेलीकास्ट हो रहे आप सभी के पसंदीदा शो ये रिश्ता क्या कहलाता है शो में चल रहा है कीर्ति आदित्य के रिश्ते को लेकर एक बहुत बड़ा ड्रामा अगर आप इस शो के डेली व्यूअर है तो आप जान ही गए होंगे कि आदित्य का असली चेहरा गोयनका परिवार के सामने आ गया है

Advertisements

 

और इस बार मनीष अपनी बेटी कीर्ति कि साइड लेते हुए आपको दिखाई देंगे. सोशल मीडिया और मीडिया में चल रही ख़बरों को अगर सच माने तो कहा जा रहा है कि शो में आप देखेंगे कि मनीष कार्तिक को घर पर बुलाएगा और घर के सभी लोग मनीष को गलत समझेंगे और कार्तिक भी अपने पापा को खूब भला बुरा कहेगा वही दादी को ये लगेगा कि मनीष कीर्ति और आदित्य के रिश्ते को एक मौका और देने के लिए कोशिश कर रहा है

कार्तिक नायरा बहुत टेंशन में आ जाते है कि पापा ऐसा कैसे कर सकते है लेकिन जैसे ही आदित्य आता है मनीष आदित्य के मुँह पर डाइवोर्स के कागज फेंकता है और उसे उसकी बेटी कि लाइफ से दूर चले जाने को कहता है मनीष का ये रूप देखकर घर के सभी लोग काफी शॉक्ड हो जायेगे साथ ही आदित्य भी गुस्से में आ जाएगा और गोयनका परिवार को बर्बाद कर देने कि कसम खायेगा.

Advertisements

 

माइक्रोवेव ओवन में खाना बनाते समय ध्यान रखे ये ख़ास बातें easy tips to prepare food in oven

कैसे करे ओवन की देखभाल microwave oven care tips

माइक्रोवेव ओवन आजकल हर किसी की पसंद बनता जा रहा है माइक्रोवेव ओवन एक किचन एप्लायंसेज है जो खाने को गरम करता है और खाना बनाने के काम आता है  माइक्रोवेव ओवन खाने को जल्दी और आसानी से बनाता है इसमें खाना बनाने में इसमें काफी कम समय लगता है इसमें रेडिएशन की मदद से खाने को गरम और बनाया जाता है.

Advertisements

 

माइक्रोवेव ओवन में खाना बनाते समय कुछ बातो को ध्यान में रखना बहुत जरूरी है.

  • ओवन में सब्जियों को उबालने और खाना पकाने के लिए माइक्रोवेव सेफ ग्लास या सिरामिक बर्तन का उपयोग करना चाहिए.
  • ध्यान रखे की जब भी आप माइक्रोवेव ओवन में खाना बनाये तो नमक बाद में डाले. खाना बनाने के बाद बाउल को बाहर निकालकर नमक डालें क्योंकि ओवन नमक को अट्रैक्ट करता है. इसलिए खाना बनाने से पहले नमक डालने से वह खाने की नमी सोख लेता है.
  • हमेशा माइक्रोवेव ओवन में खाने को ढकने के लिए प्लास्टिक रैप का ही इस्तेमाल करना चाहिए और ये भी ध्यान रखे कि खाना पकाने के बाद कुछ देर तक माइक्रोवेव का दरवाजा खुला रखें, ताकि नमी बाहर निकल जाए नहीं तो नमी अंदर रहने से ओवन को नुकसान पहुँच सकता है.

  • ओवन में खाना बनाते समय ध्यान रखे कि जिस बर्तन में आप खाना बना रहे है वह बर्तन माइक्रोवेव सेफ है या नहीं.
  • माइक्रोवेव ओवन में सिर्फ ओवल या राउंड शेप वाले बर्तनों का ही इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि ऐसे बर्तनों में खाना जल्दी बनता है जबकि रेक्टेंग्यूलर और वर्गाकार शेप बर्तनों में खाना बनाने में ज्यादा समय लेते हैं.

    Advertisements

     

  • ओवन में सिर्फ माइक्रोवेव ओवन के बर्तन का ही इस्तेमाल करे. मेटल और प्लास्टिक कुकवेयर का प्रयोग नहीं करना चाहिए.
  • माइक्रोवेव से खाना बाहर निकलने के लिए हमेशा ग्लव्स का इस्तेमाल करना उचित रहता है.
  • अगर माइक्रोवेव ओवन में कोई प्रॉब्लम आये तो उसे खुद से ठीक न करे माइक्रोवेव को ठीक करने के लिए सर्विस प्रोवाइडर को ही बुलाए.
  • माइक्रोवेव ओवन का इस्तेमाल करने से पहले उससे सम्बंधित सभी इंस्ट्रक्शन को ध्यान से पढ़ ले और उन इंस्ट्रक्शन को अच्छी तरह से फॉलो करे.
  • फ्रोजन फूड को नॉर्मल टेंपरेचर में आने के बाद ही डिफ्रॉस्ट करना चाहिए इससे खाना बनाने में कम समय लगता है.

    Advertisements

     

  • माइक्रोवेव ओवन में खाना गोल्ड या सिल्वर कलर पेंटेड बर्तन में ना बनाये क्योंकि पेंट में मेटल हो सकता है जो सही नहीं होता है.
  • ग्रिल या कन्वेक्शन मोड में ही मेटल के बर्तन का इस्तेमाल करना बेहतर होता है.
  • माइक्रोवेव लम्बे समय तक ठीक से काम करे इसके लिए उसे समय-समय पर साफ करते रहना चाहिए.
  • माइक्रोवेव का दरवाजा हमेशा धीरे से बंद करना चाहिए.
  • माइक्रोवेव ओवन को कभी भी खाली नहीं चलाना चाहिए.
  • ध्यान रहे कि जब भी माइक्रोवेव का काम ना हो तब इसे स्विच ऑफ करके ही रखे.

    Advertisements

     

वाटर प्यूरीफायर RO UF और UV में कौनसा है सही Which is correct in water purifiers RO UF and UV

वाटर प्यूरीफायर RO UF और UV में अंतर best water purifier easy tips in Hindi   

वाटर प्यूरीफायर आजकल के समय हर व्यक्ति की जरुरत बन चूका है, आजकल बाजार में अलग-अलग प्रकार के जैसे RO, UV और UF वाटर प्यूरीफायर सिस्टम उपलब्ध हैं लेकिन बहुत से लोगो में ये जानने कि इच्छा होती है,

Advertisements

 

कि बाजार में मौजूद इन सभी वाटर प्यूरीफायर में आखिर क्या अंतर है और आपके लिए कोनसा प्यूरीफायर अच्छा है, आज हम आपको बताएंगे की इन तीनो वाटरप्यूरीफायर में क्या अंतर हैं.

UF (अल्ट्रा फिल्ट्रेशन)

यूएफ प्योरिफिकेशन सिस्टम एक ऐसी फिजिकल तकनीक है इसमें एक मेंब्रेन या लेयर होती है जिसमें पानी डालने से घुली हुई अशुद्धियां साफ हो जाती हैं.

UF वाटर प्यूरीफायर के फायदे –

  • इसके लिए बिजली की जरूरत नहीं होती
  • ये पानी में होने वाले सभी बैक्टीरिया और वायरस को पानी से बाहर कर देता है.
  • नॉर्मल टैप वॉटर प्रेशर में काम कर सकता है
  • घुली हुई अशुद्धियों को भी साफ कर सकता है

    Advertisements

     

UF वाटर प्यूरीफायर के नुकसान –

  • अगर पानी हार्ड हो साथ ही क्लोरीन और आर्सेनिक की मात्रा अधिक हो हो तो इसका ज्यादा बेनिफिट नहीं मिल पाता है.

UV वाटर प्योरिफिकेशन – 

यूवी का मतलब है अल्ट्रावॉयलेट तकनीक से पानी में मौजूद बैक्टीरिया और वायरस को खत्म करना ये पानी में घुले क्लोरीन और आर्सेनिक को साफ नहीं करता है. इसका यूज़ उन जगहों के लिए अच्छा होता है जहां ग्राउंड वॉटर पहले से ही मीठा हो और सिर्फ पानी के बैक्टीरिया को खत्म करना हो जैसे पहाड़ी इलाकों और कम प्रदूषण वाले इलाको में, ये तटीय इलाकों या प्रदूषित शहरों के लिए सही नहीं होता है.

UV वाटर प्यूरीफायर के फायदे –

  • इसमें पानी डालने से घुली हुई अशुद्धियां साफ हो जाती हैं.
  • ये पानी में मौजूद बैक्टीरिया और वायरस को खत्म कर देता है.
  • ये वाटर प्यूरीफायर नॉर्मल टैप वॉटर प्रेशर में काम कर सकता है

UV वाटर प्यूरीफायर के नुकसान –

  • इसमें बिजली की जरूरत पड़ती है.
  • ये बैक्टीरिया और वायरस को पानी से बाहर न करके उन्हें मार देता है.

    Advertisements

     

RO (रिवर्स ऑस्मोसिस) – 

आरओ एक ऐसा वॉटर प्योरिफिकेशन सिस्टम है जिसमें प्रेशर डाल कर पानी को साफ किया जा सकता है  इससे उसमें मिली सभी गंदगियां, और पार्टिकिल्स समाप्त हो जाते हैं। आरओ प्योरिफायर्स का यूज़ उन जगहों में करना चाहिए जहां पानी में टीडीएस (टोटल डिसॉल्व्ड सॉल्ट) हो अर्थात जहाँ पर पानी खारा आता हो जैसे बोरवेल के पानी के लिए या फिर तटीय इलाकों के लिए आरओ प्योरिफायर बहुत बेहतर होता है  वही जिन इलाकों का पानी मीठा है जैसे पहाड़ी इलाके या जहां प्रदूषण कम होता है, वहां आरओ की जगह यूवी का यूज़ करना चाहिए.

RO वाटर प्यूरीफायर के फायदे –

  • आरओ पानी से सभी अशुद्धियों को निकाल देता है.
  • RO बैक्टीरिया और वायरस को ब्लॉक कर बाहर करता है
  • ये क्लोरीन और आर्सेनिक जैसी अशुद्धियों को भी साफ करता है

    Advertisements

     

RO वाटर प्यूरीफायर के नुकसान – 

  • RO वाटर प्यूरीफायर के लिए बिजली की जरूरत पड़ती है
  • यह सामान्य से ज्यादा टैप वॉटर प्रेशर में अच्छा काम करता है
  • लगभग 30-40% पानी आरओ के रिजेक्ट सिस्टम से वेस्ट होता है.

    Advertisements

     

वाटर प्यूरीफायर खरीदने से पहले ध्यान रखे Keep these things carefully before buying water purifiers

वाटर प्यूरीफायर खरीदते समय ध्यान रखे योग्य बाते Things to keep in mind when buying water purifiers

आज के बढ़ते प्रदूषण के कारण हर व्यक्ति अपने घर में वाटर प्यूरीफायर जरूर रखता है, आजकल यह लोगो जरूरत ही बन गया है पानी हमारे स्वास्थ्य के सबसे जरुरी है इसलिए हमेशा साफ़ पानी ही पीना चाहिए.

Advertisements

 

पर आजकल प्रदूषण इतना बाद गया है कि पानी का साफ होना बहुत मुश्किल है. इसीलिए आजकल सभी लोग वाटर प्यूरीफायर ख़रीदते हैं. पर क्या आप जानते हैं कि वाटर प्यूरीफायर खरीदने से पहले बहुत सी बाते होती हैं जो हमें पता होनी चाहिए, तो जाने ऐसी कोनसी बाते हैं जो आपको जननी बहुत जरुरी है.

पानी की क्वालिटी देखलें (Look at water quality) –

अगर आप वाटर प्यूरीफायर खरीद रहे हैं तो सबसे पहले पानी की क्वालिटी देख लें जिस पानी को आप प्यूरीफाय करना चाहते है और फिर उस पानी की क्वालिटी के हिसाब से ही वाटर प्यूरीफायर का चयन करें.

Advertisements

 

बाजार में उपलब्ध ब्रांडो की जानकारी लें (Get information about brands available in the market) –

अगर आप वाटर प्यूरीफायर खरीदने की सोच रहे हैं तो सबसे पहले मार्किट में मौजूद ब्रांडों में से कुछ ब्रांड्स को चुन लें अऔर फिर उनकी क्वॉलिटीस को एक दूसरे से कम्पेयर करें और उसी के हिसाब से एक बेहतर वाटर प्यूरीफायर का चयन करे.

बजट के हिसाब से करें चयन (Budget selection) –

अगर आपके पास ज्यादा बजट है तो ज्यादा कीमत वाला वाटर प्यूरीफायर भी खरीद सकते हैं और अगर आपके पास ज्यादा बजट नहीं है तो आप कम बजट वाला वाटर प्यूरीफायर भी ख़रीद सकते हैं, पर उसकी क्वालिटी के बारे में बारे जानकारी जरूर लेलें.

गंदे पानी के लिए (For dirty water) –

अगर आपके घर में बाह्यत ज्यादा गन्दा पानी आता है, तो आपको रिवर्स ओसमोसिस वाटर प्यूरीफायर खरीदना बेहतर होगा. इसमें गन्दा पानी साफ हो जाता है. अगर आपके वहां पानी अंडरग्राउंड से आता है या फिर खारा अर्थात नमकीन आता है तो भी आपके लिए रिवर्स ओसमोसिस वाटर प्यूरीफायर ही सही ऑप्शन है.

Advertisements

 

केमिकल वाले पानी के लिए (For Chemical Water) –

अगर आपके यहाँ केमिकल वाला पानी आता है अर्थात अगर आपके यहाँ के पानी में केमिकल मिला होता है, और आपके घर के पानी का स्वाद भी गंदा है तो फिर आपके लिए अल्ट्राफिल्ट्रेशन वाटर प्यूरीफायर सबसे बेस्ट ऑप्शन है.

फिल्टर और मेम्ब्रेन की जानकारी (Information about filters and membranes) –

वाटर-प्यूरीफायर खरीदने से पहले इस बात की जानकारी जरूर ले लें कि आप जिस वाटर प्यूरीफायर को खरीद रहें हैं, उस वाटर प्यूरीफायर के फिल्टर और मेम्ब्रेन कितने समय में बदलने पड़ते है.

वारंटी और गारंटी (Warranty and Warranty) –

वाटर प्यूरीफायर खरीदने से पहले सबसे पहले वारंटी और गारंटी के बारे में जानकारी जरूर लेलें, क्योकि हर वाटर प्यूरीफायर में अलग अलग वारंटी और गारंटी होती हैं.

Advertisements

 

प्रमाणित है या नहीं (Is certified or not) –

एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि जो भी वाटर प्यूरीफायर आप खरीदने जा रहें हैं वो प्रोडक्ट एनएसएफ(NSF), डब्लूएसए(WSA), एफडीए (FDA)से प्रमाणित है या नहीं, अगर नहीं है तो उसे न खरीदें.

ऑनलाइन सर्च करें (Search Online) –

अगर आप वाटर प्यूरीफायर खरीदने के बारे में सोच रहें हैं तो सबसे पहले एक बार ऑनलाइन सर्च जरूर कर लें इससे आपको एक बेहतर वाटर प्यूरीफायर खरीदने में काफी मदद मिलेगी, और आप सॉरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और आपको ज्यादा परेशानी भी नहीं होगी.

Advertisements