ब्राह्मी के उपयोग और इसके स्वास्थवर्धक फायदे Uses of brahmi for health

ब्राम्ही के अनोखे गुण, फायदे और स्वास्थ लाभ Top benefits of brahmi

प्राचीन समय से ही ब्राम्ही को एक अच्छी औषधि के रूप में जाना जाता है. यह सफ़ेद तथा हरे रंग की होती है तथा इसका स्वाद फीका होता है. यह शरीर को ठंडक देने वाली औषधि के रूप में जाती जाती है. ब्राह्मी का वैज्ञानिक नाम बाकोपा मोनिएरी है. इसका प्रयोग सदियों से आवश्यक जड़ी- बूटी के रूप में किया जा रहा है. ब्राह्मी में  हायड्रोकोटिलिन, एशियाटिकोसाइड, एल्केलाइड, सेपोनिन व अन्य पोषक तत्व मौजूद होते हैं जिससे दिमाग का विकास होता है साथ ही स्मरण शक्ति भी बढ़ती है.

Advertisements

 

इसके अलावा इसके प्रयोग से अन्य स्वास्थ से सम्बन्धित कई समस्या को आसानी से ठीक किया जा सकता है. आयुर्वेद की दृष्टि से ब्राह्मी बहुत ही महत्त्वपूर्ण औषधि मानी गई है. जिसका उपयोग कई लोग सदियों से करते हुए आ रहे हैं. आमतौर पर ब्राम्ही का पौधा ठंडे स्थानों पर पाया जाता है. भारत में इसकी उपज अत्यधिक की जाती है. ब्राम्ही अनेक रोगों के निदान के साथ-साथ उम्र बढ़ाने में भी सहायक होती है.

Advertisements

 

ब्राम्ही के अनोखे फायदे 

कब्ज को दूर करने में सहायक है ब्राह्मी (Brahmi for Constipation) –

ब्राह्मी कब्ज की समस्या को दूर करने का रामबाण इलाज है. कब्ज की समस्या होने पर ब्राह्मी का सेवन करें. इससे कब्ज तो ठीक होता ही है साथ ही पेट से संबंधित अन्य समस्याएं भी समाप्त हो जाती हैं.

एकाग्रता बढ़ाए ब्राह्मी से (Brahmi for Increased concentration) –

एकाग्रता बढ़ाने के लिए भी ब्राह्मी बहुत अच्छी मानी जाती है. इसका प्रयोग करने के लिए ब्राह्मी के चूर्ण को दूध के साथ सेवन करें. इससे एकाग्रता को आसानी से बढ़ाया जा सकता है.

Advertisements

 

त्वचा के रंग को निखारती है ब्राह्मी (Brahmi for beautiful skin) –

ब्राह्मी ना केवल हमारे शरीर के लिए लाभदायक है बल्कि इसके सेवन से त्वचा की रंगत भी निखरती है. इसके सेवन से शरीर में होने वाले विशैले पदार्थ बहार निकल जाते हैं. जिससे नए सेल्स बनते हैं और त्वचा में निखर आता है.

ब्राह्मी से खांसी और बुखार दूर करें (Brahmi for fever and cough) –

ब्राह्मी खासी और बुखार की समस्या को दूर करने में भी सहायक है. इसके प्रयोग करने के लिए थोड़ा ब्राह्मी का चूर्ण लें. अब इसमें समान मात्रा में शंखपुष्पी, बादाम, छोटी या सफ़ेद इलायची को पानी में डालकर छान लें. अब इस पानी को पी लें. इससे खासी और बुखार की समस्या कम होने लगेगी.

Advertisements

 

अनिद्रा की समस्या को दूर करने के लिए ब्राम्ही का उपयोग ((Brahmi for Insomnia) –

अनेक लोगो को नीद ना आने की समस्या होती है. इस समस्या को ठीक करने के लिए ब्राह्मी का प्रयोग भी किया जाता है. इसका प्रयोग करने के लिए रोजाना रात को सोने से पहले ब्राह्मी के एक चम्मच चूर्ण को एक ग्लास दूध में डालकर पीये. इससे अनिद्रा की समस्या ठीक होने लगती है.

दांत दर्द में लाभदायक ब्राह्मी ((Brahmi for Tooth Ache) –

ब्राह्मी का उपयोग दांत दर्द में भी लाभदायक होता है. इसके उपयोग के लिए आधा ग्लास पानी लें. अब इसमें आधा चम्मच ब्राह्मी चूर्ण डालकर गर्म करें. अब इस पानी से रोजाना दिन में दो बार कुल्ला करें. इससे दांत दर्द कम होने लगेगा.

Advertisements

 

Related Post