अश्वगंधा के फायदे, शक्तिवर्धक गुण तथा शारीरिक लाभ Amazing benefits of ashwagandha or rennet

अश्वगंधा के फायदे, गुण तथा अचूक लाभ Ashwagandha benefits for health 

अश्वगंधा एक ऐसा पौधा है जिसका प्रयोग हजारो सालों से दवा के रूप में प्रयोग किया जा रहा है. वैसे यह तो यह एक जंगली पौधा है, मगर इसमें अनेक प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं.

Advertisements

 

अश्वगंधा की कच्चे जड़ से घोड़े के समान गंध आती है, इसलिए इसको अश्वगंधा नाम से जाना जाता है. इसके अलावा इसे असगंध बराहकर्णी, आसंघ, आदि नामों से भी जाना जाता है. अश्वगंधा में अनेक चमत्कारी गुण हैं, और कई परेशानियों में यह आश्चर्यजनक रूप से लाभकारी है.

अश्वगंधा का आयुर्वेद में बहुत ज्यादा उपयोग किया जाता है.अश्वगंधा का उपयोग कई सालों से जड़ी-बूटी के रूप में किया जाता है. इसके प्रयोग से हमारा शरीर अनेक रोगों से दूर रहता है साथ ही शरीर में रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है. अश्वगंधा एक ऐसी जड़ी-बूटी है जो आसानी से बाजार में उपलब्ध हो जाती है. इसके प्रयोग से शरीर का मोटापा नियंत्रित होता है साथ ही इस तह की अनेक समस्याएं कम होने लगती हैं.

Advertisements

 

डायबिटीज को रोकथाम के लिए अश्वगंधा (Ashwagandha for diabetes) – डायबिटीज की समस्या को कम करने के लिए अश्वगंधा काफी फायदेमंद होता है. इससे डायबिटीज को कंट्रोल किया जा सकता है. इसके प्रयोग के लिए रोजाना कुछ मात्रा में अश्वगंधा के चूर्ण का सेवन करें.

पर्किंसंस की बीमारी को ठीक करें अश्वगंधा से (Ashwagandha for parkinson’s disease) – पर्किंसंस बीमारी दिमाग में होने वाली एक ऐसी बीमारी है जो इंसान के शरीर को कमजोर कर देता है. इस समस्या को कम करने के लिए अश्वगंधा का सेवन करें. इससे पर्किंसंस जैसी समस्याएं कम होने लगेंगी.

Advertisements

 

हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है अश्वगंधा (Ashwagandha for high blood pressure) – उच्च रक्तचाप की समस्या को समाप्त करने के लिए भी अश्वगंधा लाभदायक होता है. रोजाना कुछ मात्रा में इसका सेवन करें. इससे हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल किया जा सकता है.

वात विकार की परेशानी को ठीक करने के लिए अश्वगंधा का प्रयोग (Ashwagandha for gastric problems) – वात आदि की परेशानी को दूर करने के लिए अश्वगंधा चूर्ण दो भाग, सोंठ एक भाग तथा मिश्री तीन भाग मिलाकर इसे गर्म पानी के साथ लें. इससे वात की समस्या को समाप्त किया जा सकता है.

Advertisements

 

कफ-खांसी और दमा की समस्या को खत्म करने के लिए अश्वगंधा (Ashwagandha for cough and asthma) – खासी तथा कफ आदि की समस्या को कम करने के लिए भी अश्वगंधा फायदेमंद होता है. अश्वगंधा का थोड़ा चूर्ण गर्म दूध के साथ लें. इससे आपको आराम मिलेगा.

अनिद्रा-रोग में लाभदायक है अश्वगंधा (Ashwagandha for insomnia) – अनेक लोग अनिद्रा की समस्या से परेशान रहते हैं. इस समस्या को दूर करने के लिए अश्वगंधा फायदेमंद होता है. अश्वगंधा की खीर बनाकर खाने से अनिद्रा की समस्या कम होने लगती है.

Advertisements

 

आंखों की रोशनी बढ़ाने में सहायक अश्वगंधा (Ashwagandha for eye sight) – आँखों की रौशनी बढ़ाने के लिए भी अश्वगंधा लाभदायक है. इसके प्रयोग के लिए अश्वगंधा, मुलहठी और आंवला को पीस कर इसका चूर्ण बना लें. अब इस चूर्ण को रोजाना एक चम्मच का सेवन करें. यह आँखों की रौशनी बढ़ाने में मदद करेगा.

हीमोग्लोबिन बढ़ाने में सहायक है अश्वगंधा (Ashwagandha for boosting hemoglobin) – अश्वगंधा के रोजाना सेवन से शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाया जा सकता है. रोजाना दिन में तीन बार 1-1 ग्राम अश्वगंधा का सेवन करें. इससे शरीर में खून की कमी नहीं होती.

Advertisements

 

Related Post