खाँसी के इलाज के लिए घरेलु नुस्खे

खाँसी के इलाज के लिए घरेलु नुस्खे

khasi ke ilaj ke liye kharelu nuskhe

ghigu

खांसी (Cough) एक ऐसी बीमारी है जो किसी भी मौसम में हो सकती है, खांसी (Cough) बदलते मौसम में या ठंडा गर्म खाने अथवा एलर्जी के कारण हो सकती है. अधिकतर लोगो को बदलते मौसम में खांसी (Cough) होने लगती है, जिसे ठीक होने में काफी समय लग जाता है.

Advertisements

 

खांसी (Cough) होने का मतलब यह है की हमारा श्वास तंत्र ठीक से काम नहीं कर रहा है, तथा हमारे गले को काफी तकलीफ का सामना करना पड़ता है, और खांसी (Cough) होने के कारण हम कोई भी काम ठीक तरह से नही कर पाते हैं.

1- खांसी (Cough) की रोकथाम हेतु कुछ आसान से घरेलु उपाय है जो हम आसानी से कर सकते है.

एक चौथाई चम्मच काली (Black Pepper) मिर्च का पाउडर लें,और आधा चम्मच शहद (honey) मिला लें. इसका सेवन दिन में तीन अथवा चार बार करे खांसी (Cough) की समस्या से निजात मिल जाएगी.

2- 10 ग्राम शहद में 5 मिलि. अदरक का रस मिला लें, इसका सेवन दिन में तीन-चार बार करने से खाँसी में राहत मिलती है.

3- शक्कर और काली मिर्च को बराबर मात्रा में लें, इसे पीस कर गाय के शुद्ध घी में मिलाकर इसका पेस्ट बना लें, और इसकी छोटी-छोटी गोलिया बना लें. दिन में तीन बार गोली का सेवन करें. खांसी में लाभ होता है.

4- दूध में मूली का रस बराबर मात्रा में मिलाने लें. इसका सेवन दिन में कम से कम छः बार करने से खांसी से जल्दी आराम मिलता है.

Advertisements

 

Khasi ek esi bimari he jo kisi bhi mousam me ho skti he, khasi bdlte mosam me ya tand garm khane athva allergy ke karn ho skta he. Adiktar logo ko badalte mosam me khasi hone lagti hai, jaise thik hone me kafi samay lag jata he. Khasi hone ka mtlb ya hai ki hamara swash tant tik se kam nhi kr rha he,  ttha hmare gle ko kafi tklif ka samna krna pdta he, or khasi hone ke karan hum koi bhi kaam thik tarah se nhi kr pate he.

  1. Khasi ki roktham hetu kuch asan se gharelu upay he jo hum asani se kar sakte he.

Ek chodaie chammch kali mirch ka paudr le, or adha chammch shahd mila le. Iska sevan din me tin athwa char baar kare khasi ki smsya se nijat mil jayegi.

  1. 10 gram shahad me 5 mili. Adrk ka ras mila le, iska sewan din me tin-char bar krne se khasi me raht milti he.
  2. shakar or kali mirch ko brabr matra me le, ise pis kr gaay ke shudh ghee me milakar iska pest bna le, or iski choti-choti goliya bna le din me tin baar goli ka sewan kare. Khashi me labh hota he.
  3. Dhudh me muli ka rash brabar matra me milane le. Iska sewan din me kam se kam che bar karne se khasi se jaldi aaram milta he.

Advertisements

 

Related Post